देश दुनिया न्यूज़

अमेरिका ने दी इंडिया में कोरोना संबंधी एडवायजरी में ढील

Report Ring News

हाल के दिनों में इंडिया में कोरोना के मामलों में बेहद कमी आयी है। इसके साथ ही इंटरनेशनल फ्लाइट्सट्स भी चालू कर दी गयी हैं। जबकि देश के विभिन्न राज्य कोविड-19 नियमों में ढील रहे हैं। इस बीच अमेरिका व अन्य देशों से इंडिया आने के इच्छुक लोगों के लिए भी अच्छी खबर है, क्योंकि अब उन्हें पहले की तरह सख्त कोरोना नियमों का पालन नहीं करना पड़ेगा। इससे देश में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। जिसमें कोरोना महामारी के चलते पिछले दो वर्षों के दौरान बेहद कमी देखी गयी है।

इस दौरान अमेरिकी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने सोमवार को भारत के बारे में नयी कोविड ट्रैवल एडवाइजरी जारी की है। जिसमें इंडिया के लिए ट्रैवल एडवाइजरी के स्तर को लेवल 3 यानी हाई रिस्क से घटाकर लेवल 1 कर दिया गया है। जो कि भारत में कोरोना महामारी के नियंत्रण में आने के कारण हुआ है। उक्त अमेरिकी एजेंसी के मुताबिक उसने इंडिया के लिए कोविड ट्रैवल एडवाइजरी को लो रिस्क के स्तर में बदल दिया है। इसमें साफ तौर पर कहा गया है कि इंडिया में कोरोना के मामलों में आयी भारी कमी की वजह से यह कदम उठाया गया है।

हालांकि जिन अमेरिकी नागरिकों ने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवायी है, उन्हें इंडिया ट्रैवल करने से बचने की सलाह दी गयी है। सीडीसी के अनुसार, जिस किसी व्यक्ति ने फूड एंड ड्रग अथॉरिटी से मान्यता वाला टीका लगवाया है, उसके संक्रमित होने और गंभीर लक्षण का खतरा कम रह सकता है।

जाहिर सी बात है कि अगर किसी अमेरिकी नागरिक ने टीका लगवाया है तो वह इंडिया घूमने आदि के लिए आ सकता है। उक्त एजेंसी ने जोर देते हुए कहा है कि बेहतर होगा कि इंडिया जाने से पहले आपने कोरोना वैक्सीन लगवायी हो। साथ ही इंडिया जाने वाले यात्री वहां के कोविड संबंधी नियमों का पालन भी करें।

अमेरिका द्वारा जारी की गयी इस एडवाइजरी के बाद अन्य देश भी इंडिया के बारे में इसी तरह की घोषणाएं कर सकते हैं। क्योंकि पिछले कुछ हफ्तों से देश में कोरोना के नए पुष्ट मरीजों और मृतकों की संख्या में बहुत कमी दर्ज की गयी है।

हालांकि पड़ोसी देश चीन में पिछले दो वर्षों के बाद सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए जा रहे हैं। वहीं इटली, जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन व दक्षिण कोरिया आदि देशों में कोरोना का ग्राफ काफी तेजी से बढ़ रहा है। जो कि इंडिया के लिए भी एक चेतावनी है, क्योंकि विशेषज्ञों का कहना है कि अगले कुछ महीनों में कोरोना की चौथी लहर दस्तक दे सकती है।

इस बीच कल देश में कोरोना के 1,270 नए मामले दर्ज किए गए, जबकि इस महामारी से मरने वालों की संख्या 31 रही।

 



Leave a Reply

Your email address will not be published.