न्यूज़

चौरी चौरा शताब्दी वर्ष को कला साहित्य के माध्यम से जन-जागरूकता लाएगी संस्कार भारती

Report ring desk

नई दिल्ली । संस्कार भारती चौरी चौरा, गोरखपुर शताब्दी समारोह को कला साहित्य के माध्यम जन-जागरूकता लाएगी। ज्ञात हो उत्तर प्रदेश राज्य स्तरीय आयोजन समिति की बैठक  मे सुनिश्चित किया गया कि उत्तर प्रदेश सरकार इस प्रसिद्ध जनआंदोलन की गौरव-गाथा को जन-जन तक पहुँचाने के लिए अनेक बड़े सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन पर काम करने जा रही है, जो बहुत ही सराहनीय कदम है। शताब्दी समारोह के अंतर्गत पूरे प्रदेश के सभी जिलों में अनेक स्थानों पर विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन की रूप रेखा बनाई जा रही है। सरकार द्वारा स्वाधीनता संग्राम के 75 वें वर्ष को भी बड़े स्तर पर मनाने की योजना है।

चौरी चौरा आंदोलन भारतीय स्वाभिमान का जन आंदोलन था, जिसे ब्रिटिश हुकूमत ने बड़ी बर्बरता पूर्वक कुचलने की कोशिश की जो जनआक्रोश के रूप मे 4 फरवरी 1922 को फूटा।

बैठक से भाग लेकर लौटे आयोजन समिति के  सदस्य संस्कार भारती के राष्ट्रीय महामंत्री अमीर चंद  ने जानकारी देते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित चौरी चौरा शताब्दी समारोह को संस्कार भारती के कलाकार साहित्यकार अपनी कला साहित्य के माध्यम से जन जन तक न केवल पहुंचाएंगे बल्कि जनभागीदारी बढ़ाने मे भी सहायक सिद्ध होंगे । वर्ष भर चलने वाले इस कार्यक्रम मे ही संस्कार भारती ने भी सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने का फैसला किया हैं और साथ ही सब प्रकार से सरकार को सहयोग करने का भी फैसला लिया है।

 



Leave a Reply

Your email address will not be published.