देश दुनिया न्यूज़

ऑस्ट्रेलिया और यूरोपीय देशों ने Tik Tok को लेकर किया यह फ़ैसला..

ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी आदि देश नहीं लगाने जा रहे टिक-टॉक/Tik Tok पर कोई बैन…

Report Ring News

एक ओर भारत ने Tik Tok सहित 59 चीनी एप्स पर पाबंदी लगा रखी है, वहीं अमेरिका भी टिक-टॉक को बैन/Ban करने की धमकी दे रहा है। हालांकि टिक-टॉक के लिए एक अच्छी खबर ऑस्ट्रेलिया और यूरोप से आ रही है। वहां की सरकारों का कहना है कि उनकी Tik Tok को प्रतिबंधित करने की कोई योजना नहीं है। उनकी नज़र में अभी तक टिक-टॉक से उनके देश की सुरक्षा को खतरा जैसी कोई बात नहीं है। उनका मानना है कि लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है, ऐसा न सिर्फ टिक-टॉक के लिए करना चाहिए, बल्कि फेसबुक/ Facebook आदि सोशल मीडिया प्लेटफार्म्स/Social Media platforms को भी यूजर्स से तमाम जानकारी हासिल होती है।

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने अमेरिका के एस्पन सुरक्षा मंच में कहा कि उनके पास ऐसा कोई सबूत नहीं है, जिससे कि ऑस्ट्रेलिया में चीनी कंपनी टिक-टॉक/ Tik Tok पर प्रतिबंध लगाया जाय। इतना ही नहीं अभी तक ऐसा कुछ पता नहीं चला है कि इस एप्प ने ऑस्ट्रेलिया के सुरक्षा हितों या ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों के व्यक्तिगत हितों को नुकसान पहुंचाया है।

हालांकि मॉरिसन ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों को सतर्क रहने की आवश्यकता है, क्योंकि न केवल टिक-टॉक के साथ इस तरह की समस्या है, बल्कि फेसबुक आदि को भी यूजर्स से बहुत सारी जानकारी हासिल होती है।

यहां बता दें कि इससे पहले अमेरिकी सरकार ने “राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने के संदेह” के कारण टिक-टॉक पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी।

 उधर ब्लूमबर्ग न्यूज़ के मुताबिक ब्रिटेन/Britain और फ्रांस/France की सरकारों के प्रवक्ताओं ने कहा कि उनके देशों में टिक-टॉक/ Tik Tok पर प्रतिबंध लगाने की कोई योजना नहीं है। इसके अलावा, जर्मन सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि जर्मनी/Germany टिक-टॉक पर प्रतिबंध नहीं लगा रहा है।



Leave a Reply

Your email address will not be published.