न्यूज़

तीसरी कक्षा में पढ़ने वाले बच्चे ने मांगी थी रंगदारी

Report ring desk 
हल्द्वानी। ईएनटी सर्जन डॉ. वैभव कुच्छल से तीन करोड़ की रंगदारी मांगने वाला तीसरी कक्षा में पढ़ने वाला एक बच्चा निकला। पुलिस ने रंगदारी मामले का खुलासा करने का दावा करते हुए बताया कि दस साल के इस बच्चे ने मजाक मजाक में एक अनजान नंबर मिला दिया था।

रामपुर रोड मानपुर उत्तर स्थित निजी अस्पताल के संचालक डॉ. वैभव कुच्छल के पास सोमवार शाम एक कॉल आई, जिसमें कॉल करने वाले ने तीन करोड़ की रंगदारी मांगी थी और न देने पर उनके बेटे के अपहरण की धमकी दी थी। इस घटना से जिले भर में खलबली मच गई थी। एसएसपी ने डॉक्टर के घर पर पुलिस फोर्स तैनात कर दी।

सर्विलांस से कॉल करने वाले की लोकेशन हापुड़ मिली तो पुलिस टीम हापुड़ रवाना कर दी गई। कोतवाली पुलिस और एसओजी ने हापुड़ की एक कॉलोनी में दबिश देकर मंगलवार रात एक फर्नीचर कारोबारी को पकड़ लिया। पूछताछ में पता चला कि फोन कारोबारी ने नहीं बल्कि उनके 10 साल के बेटे ने किया था। पिता को इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी। पुलिस दोनों को साथ लेकर रात में ही हल्द्वानी आ गई।

हल्द्वानी थाने में पुलिस टीम ने बालक से पूछताछ की। उसने बताया कि सोमवार शाम माता पिता घर पर नहीं थे। इसी बीच उसने यूटयूब पर बालीवुड सिंगर टोनी कक्कड़ का गाना सुना। नंबर लिख 98971 इसके बाद उसके मन में विचार आया कि दोस्त को काल किया जाए। मोबाइल में देखा तो नंबर डिलीट था। अंदाजे से उसने टोनी कक्कड़ के गाने के आगे की डम डिका डम की जगह 11121 जोड़ दिया। काल उठते ही तीन करोड़ देने और न देने पर बच्चे के अपहरण की धमकी दी। उसे शाम तक यही लगा कि दोस्त के पिता का काल है और वह वापस काल करेंगे। 



Leave a Reply

Your email address will not be published.