न्यूज़

चालीस साल की सेवा के बाद अध्यापिका याज्ञसेनी दलपति सेवानिवृत्त

By Suresh Agrawal, Kesinga, Odisha

सरकारी बालिका उच्च विद्यालय केसिंगा की वरिष्ठ अध्यापिका श्रीमती याज्ञसेनी दलपति 31 अगस्त को सेवानिवृत्त हो गयीं। इस मौके पर एक संक्षिप्त समारोह में उन्हें भावभीनी विदाई दी गयी एवं उनके यशस्वी कार्यकाल को याद किया गया। ज्ञातव्य है कि विगत चार दशक से शिक्षा के क्षेत्र में, विशेषकर बालिका शिक्षा के क्षेत्र में एक आदर्श एवं लोकप्रिय शिक्षिका के रूप में उन्होंने ख़ूब ख्याति अर्जित की।

दलपति अध्यापिका होने के साथ-साथ एक अच्छी वक्ता एवं लेखिका भी हैं और उनके दो लघु-कथा संकलन “माटी रू आकाश” तथा “शामुकार स्वपन” प्रकाशित हो चुके हैं, जिन्हें काफी लोकप्रियता हासिल हुई है। कर्तव्यनिष्ठ, मानवतावादी मृदुभाषी एवं आदर्श शिक्षिका दलपति को केसिंगा के पूर्व गौंतिया भुवनेश्वर साहा की पुत्रवधू, पूर्व नगरपाल एवं स्वनामधन्य चिकित्सक डॉक्टर हेमसागर साहा की धर्मपत्नी एवं गजपति के ज़िलाधीश अनुपम साहा की माता होने का गौरव प्राप्त है।



Leave a Reply

Your email address will not be published.