न्यूज़

सारे दिन गर्भवती को इलाज के लिए दौड़ाया, चली गयी जान

Report ring desk

अल्मोड़ा। कोरोना होने की आशंका के चलते एक गर्भवती महिला को समय पर इलाज नहीं मिल पाया। इससे उसकी जान चली गयी। गर्भवती महिला को सांस लेने में परेशानी होने पर परिजन प्राइवेट अस्पताल में लाए थे। डाॅक्टरों ने कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही इलाज की बात कही। इस बीच गर्भवती महिला को डाॅक्टर एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल तक दौड़ाते रहे। जब कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

पांच माह की गर्भवती आशा देवी 24 पत्नी मुन्ना सिंह निवासी कोसी कटारमल की तबीयत बृहस्पतिवार सुबह से खराब थी। महिला एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए पहुंची तो कोरोना पॉजिटिव होने की आशंका जताते हुए उसे कोरोना जांच के लिए भेज दिया ।

परिजन उसे जिला अस्पताल अल्मोड़ा लेकर पहुंचे तो उसे कोविड-19 की जांच के लिए बेस अस्पताल भेजा गया। बेस अस्पताल में महिला की कोरोना जांच हुई और महिला की रिपोर्ट निगेटिव आई लेकिन उसकी हालत बिगड़ने लगी। जब उसे देर शाम बेस से जिला अस्पताल लेकर पहुंचे तब तक महिला की मौत हो चुकी थी।



Leave a Reply

Your email address will not be published.