न्यूज़

कोरोना महामारी से बचाव के उपाय करने में भाजपा सरकार फेल

  • नगर एवं ब्लाॅक कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन में बोले प्रदेशाध्यक्ष
  • जीडीपी में सुधार के लिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से राय मशविरा ले सकते हैं मोदी
  • नेता प्रतिपक्ष ने बढ़ती महंगाई पर सरकार पर साधा निशाना

By Naveen Joshi

खटीमा। कांग्रेस पार्टी का शुक्रवार को नगर एवं ब्लाॅक कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया गया। इसमें पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के उपाय करने में भाजपा सरकार पूरी तरह नाकाम साबित हुई है। देश की जीडीपी बुरी तरह गिर चुकी है, जबकि कांग्रेस के शासनकाल में कभी ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि अगर मोदी जी को पूछने में झिझक नहीं आती हो तो वे जीडीपी में सुधार के लिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से राय मशविरा कर सकते हैं।

2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर पूरी तरह कमर कस चुकी कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारियों ने कार्यकर्ताओं से संपर्क साधना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में शुक्रवार को खटीमा ब्लाॅक सभागार में आयोजित सम्मेलन में पहुंचे पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सिंह ने सबसे पहले कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाया।

साथ ही खटीमा के शहीद राज्य आंदोलनकारियों को याद किया। कहा कि अलग राज्य निर्माण में खटीमा वासियों का अलग योगदान है। यहां के लोगों ने शहादत देने के साथ ही राज्य आंदोलन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। नतीजतन अलग राज्य का निर्माण हुआ। इसके बाद कांग्रेस शासनकाल में मुख्यमंत्री रहे नारायण दत्त तिवारी ने जनभावनाओं के अनुरूप प्रदेश का विकास किया और सिडकुल की स्थापना कर यहां के लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया।

भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए सिंह ने कहा कि कांग्रेस शासनकाल में कभी भी सिलेंडर के दाम 400 रुपये से अधिक नहीं हुए, लेकिन आज सिलेंडरों के दाम आसमान छूते जा रहे हैं, इसके अलावा पेट्रोल-डीजल के दाम भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं बावजूद इसके तत्कालीन कांग्रेस शासनकाल में धरना-प्रदर्शन करने वाले भाजपा के नेता और मंत्री चुप्पी साधे हैं।

सम्मेलन में पहुंचीं नेता प्रतिपक्ष डाॅ.इंदिरा हृदयेश ने भी बढ़ती महंगाई के लिए भाजपा सरकार को निशाने पर लिया। कहा कि आज महंगाई के चलते महिलाओं के किचन का बजट बिगड़ गया है। इस महंगाई को रोकने में भाजपा सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है। आरोप लगाया कि कांग्रेस के जो कार्यकर्ता पूरी निष्ठा से जनहित के कार्य कर रहे हैं, उन्हें भी नहीं करने दिया जा रहा है।

यहां के लोगों ने शहादत देने के साथ ही जिन सपनों को लेकर राज्य के लिए लड़ाई लड़ी थी, उसे भाजपा सरकार ने हाशिए में डाल दिया है। कहा कि अब जनता परिवर्तन का मन बना चुकी है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि हमें 2022 में कांग्रेस पार्टी को फिर से सत्ता पर काबिज कराने का संकल्प लेना है। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने भी 2022 में क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी को भारी मतों से विजयी बनाने का भरोसा दिलाया। सम्मेलन को कांग्रेस पार्टी के प्रदेश महामंत्री भुवन कापड़ी, ब्लाॅक अध्यक्ष बाॅबी राठौर, ब्लाॅक प्रमुख रंजीत सिंह नामधारी, किसान नेता प्रकाश तिवारी आदि ने भी संबोधित किया। संचालन कांग्रेस के कार्यकारी नगराध्यक्ष रवीश भटनागर ने किया।

इस दौरान कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष रंजीत रावत, जिलाध्यक्ष जितेंद्र शर्मा, पूर्व अध्यक्ष नारायण बिष्ट, हरीश पनेरू, संदीप चीमा, पालिकाध्यक्ष सोनी राणा, व्यापार मंडल अध्यक्ष अरुण सक्सेना, पूर्व विधायक गोपाल सिंह राणा, दलजीत सिंह गोराया, वहीदउल्ला खां, संतोष गौरव, मेहंदी हसन, दान सिंह राणा, देवेंद्र कन्याल, राजकिशोर सक्सेना, राजू सोनकर, नासिर खान, राशिद अंसारी, प्रवीन सिंह, हिमांशु तिवारी, साधू सिंह, किशोरी देवी आदि मौजूद थे।

इससे पहले प्रदेशाध्यक्ष प्रीतम सिंह, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश समेत तमाम कार्यकर्ताओं ने शहीद स्मारक पर पहुंचकर राज्य आंदोलन के शहीदों को पुष्प अर्पित किए।

जीएसटी पूरी तरह फेल हुई : प्रीतम सिंह

खटीमा। कार्यकर्ता सम्मेलन के बाद पीलीभीत रोड स्थित एक होटल में हुई पत्रकार वार्ता में प्रदेशाध्यक्ष प्रीतम सिंह ने जीएसटी को पूरी तरह फेल करार दिया। कहा कि नैनीताल में एक व्यापारी ने आत्महत्या की थी, जिसकी वजह जीएसटी ही सामने आई थी। सरकार की चारधाम परियोजना भी फेल साबित हुई है।

आज हालत बद से बदतर हैं। नेता प्रतिपक्ष डाॅ. हृदयेश ने कहा कि सबसे अधिक मार गरीब किसान पर पड़ी है। अस्पताल से लेकर कोविड सेंटरों की हालत भी बदतर है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं और निजी लोगों ने लाॅकडाउन के दौरान काफी मात्रा में राशन बांटा, नहीं तो जाने कितने लोग भूख से मर जाते। सरकार अपने कर्मचारियों को वेतन तक नहीं दे पा रही है। ऐसी सरकार को सत्ता में रहने का कोई हक नहीं है। इसे तत्काल विदा कर देना चाहिए। 



Leave a Reply

Your email address will not be published.