न्यूज़

न नाम बताया न पहचान, मरीजों की जान बचाने एक करोड़ के कंसेंट्रेटर दान कर दिये

Report ring desk

नैनीताल। कोरोनाकाल में अस्पतालों में आक्सीजन की कमी से मरीज दम तोड़ रहे हैं। इस भयावह हालात के बीच अस्पतालों में सुविधाएं बहाल करने की आए दिन घोषणाएं हो रही हैं। मगर अस्पतालों में आक्सीजन समेत अन्य सुविधाएं कब पहुंच पाएंगी पता नहीं।

इसी बीच नैनीताल के एक दानवीर ने  बीडी पांडे अस्पताल नैनीताल को 210 आक्सीजन कंसेंट्रेटर गुप्त दान किये हैं। बाजार में इनकी कीमत एक करोड़ के करीब बताई जा रही है। ये नैनीताल में पहुंच गए हैं। इन्हें विदेश में रहने वाले एक व्यक्ति ने दान किया है और उन्होंने नाम जाहिर न करने की इच्छा जताई है। बीडी पांडे अस्पताल के पीएमएस डाॅ.केएस धामी ने बताया कि विदेश में रहने वाले व्यक्ति ने एक संस्था के माध्यम से मदद पहुंचाई है। इससे कोविड से जूझ रहे मरीजों को लाभ होगा।

हल्के व मध्यम मरीजों के लिए आक्सीजन सिलेंडर का विकल्प

इंडियन एक्सप्रेस की 28 अप्रैल की खबर के अनुसार भारत सरकार ने एक लाख कंसेंट्रेटर खरीदकर कोरोना से गंभीर रूप से जूझ रहे राज्यों को इन्हें देने की घोषणा की थी। कंसेंट्रेटर होम आइसोलेट और अस्पताल में भर्ती मध्यम मरीजों के काम आता है। इसका उपयोग आक्सीजन सिलेंडर के विकल्प के रूप में किया जा सकता है। हल्के से लेकर मध्यम रूप से बीमार, जिनका ऑक्सीजन सेचुरेशन स्तर 90-94 के बीच है, ऐसे मरीज कंसेंट्रेटर का उपयोग कर सकते हैं।  किसी मरीज का ऑक्सीजन सेचुरेशन स्तर 80-85 से कम होने पर आक्सीजन सिलेंडर की जरूरत होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *