न्यूज़

नेपाल सीमा से सटा मेलाघाट क्षेत्र बना तस्करी का गढ़

एसएसबी ने एक हफ्ते के अदर दूसरी बार पकड़ा तस्करी का सामान

By Naveen Joshi
खटीमा। नेपाल की अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटा भारत का मेलाघाट क्षेत्र तस्करी का गढ़ बन चुका है। यहां तस्कर सामान लाकर डंप कर देते हैं और फिर मौका मिलते ही उस सामान को ठिकाने लगा देते हैं। बेखौफ तस्कर एसएसबी की कड़ी चौकसी के बावजूद अपने काम को आसानी से अंजाम दे रहे हैं।

गुरुवार रात गश्त के दौरान मेलाघाट में तैनात एसएसबी को सामान तस्करी होने की सूचना मिली, इस पर एसएसबी जवानों ने 57वीं वाहिनी एसएसबी-सी समवाय कंपनी कमांडर मनोहर लाल के नेतृत्व में पिलर सं.797/1 के पास नाका लगाकर नेपाल की ओर जा रहे मोटरसाइकिल सवारों से 8 बोरे सरकारी खाद इफको यूरिया, एनपीके और डीएपी पकड़े। हालांकि, तस्कर अंधेरे का फायदा उठाकर भारत की ओर भाग गए।

 

कुछ देर बाद नेपाल से भी भारत की ओर मोटरसाइकिल से आते हुए संदिग्ध को रुकने का इशारा किया, लेकिन संदिग्ध व्यक्ति नेपाल की तरफ फरार हो गया। शक के आधार पर जवानों ने आसपास गन्ने के खेत में छानबीन की तो वहां से 90 पैकेट इलैक्ट्रिक पटाखे और 6 बोरे चाइनीज मटर बरामद हुए।

जब्त कुल माल की कीमत 1 लाख 15 हजार 200 रुपये आंकी गई है। एसएसबी ने बरामद माल को आवश्यक कार्रवाई करते हुए कस्टम विभाग खटीमा के सुपुर्द कर दिया। गश्ती दल में एएसआई प्रेम सिंह, हेड कांस्टेबल दिनेश सिंह रावत, संजय कुमार, कांस्टेबल योगेश, सरदरमल वर्मा, विजय कुमार आदि जवान शामिल थे।
बता दें कि एसएसबी जवानों ने एक सप्ताह के अंदर दूसरी बार तस्करी का सामान पकड़ा है। बावजूद इसके तस्करी रुकने का नाम नहीं ले रही है।



Leave a Reply

Your email address will not be published.