न्यूज़

मजदूरों के सामने रोजी रोटी का संकट

Report Ring Desk

चोरगलिया। नंधौर नदी में उपखनिज निकासी लक्ष्य समाप्ति के 14 दिन बाद भी खनन लक्ष्य नहीं बढ़ाया गया है। राज्य सरकार की टीमें 16 दिन पूर्व नदी का सर्वे कर वापस जा चुकी हैं। खनन लक्ष्य नहीं बढ़ने से नंधौर के पांचों गेटों पर ताले लटके हैं। खनन बंद होने से मजदूरों के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है।

दिसंबर 2020 में नंधौर नदी में पांच लाख घनमीटर खनन का लक्ष्य था यह 23 फरवरी 2021 को पूर हो गया। आमतौर पर नंधौर के खनन गेट 31 मई को बंद होते थे लेकिन इस बार तीन महीने पहले ही बंद कर दिए गए हैं। खनन बंद होने से करीब तीन हजार वाहनों के चक्के जाम हो गए हैं । काम नहीं होने से मजदूर घरों को लौटने लगे हैं।



Leave a Reply

Your email address will not be published.