न्यूज़

रेडबुल शटल अप नेशनल फाइनल में देबाहुति और मालिनी बरुआ की जोड़ी ने मारी बाजी

Report ring Desk
नई दिल्ली। भारत के पहले एक्सक्लूसिव वुमंस डबल टूर्नामेंट रेडबुल शटल अप के तीसरे संस्करण का आयोजन यहां शुक्रवार को त्यागराज स्पोट्र्स कॉम्प्लेक्स में किया गया। फाइनल में गुवाहाटी से देबाहुति लाहोन और मालिनी बरुआ ने जीत हासिल की।

गुवाहाटी से देबाहुति लाहोन और मालिनी बरुआ की विजेता जोड़ी के अलावा मुंबई से शुभांगी मजूमदार और रमशा फारूकी, हैदराबाद से आफनान जरीन और अरुण कोमल, चंडीगढ़ से नलिनी मलिक और खुशबू शाह और दिल्ली से सना वर्मा और एकता जोशी ने अपने-अपने शहरों में हुए क्वॉलिफाइंग मैचों को जीत कर रेडबुल शटल अप 2021 के फाइनल में अपनी जगह बनाई।

रेड बुल शटल अप क्वॉलिफायर्स के मैच हैदराबाद, चंडीगढ़, दिल्ली, मुंबई और गुवाहाटी में 18 सितंबर से 30 अक्टूबर 2021 तक खेले गए। अलग-अलग शहरों में हुए क्वॉलिफाइंग मैचों को जीतने वाली जोड़ी को राष्ट्रीय स्तर पर रेडबुल शटल अप प्रतियोगिता के फाइनल में अपना हुनर दिखाने का मौका मिला। टूर्नामेंट का उद्देश्य उभरती हुई महिला बैडमिंटन खिलाडिय़ों के बीच खेल को बढ़ावा देना और उन्हें इस टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए प्रेरित करना है।

इस मौके पर भारत की मशहूर वुमन डबल शटलर और रेडबुल एथलीट अश्विनी पोन्नपा ने कहा, ‘देश की प्रतिभाशाली महिला खिलाडिय़ों को टूर्नामेंट में भाग लेते हुए देखना वाकई उत्साह बढ़ाने वाला है। मेरी हमेशा से यह इच्छा रही है कि मैं भारत में खासतौर पर महिला खिलाडिय़ों के बीच बैडमिंटन के खेल को प्रमोट करूं। रेडबुल जैसे प्लेटफॉर्म से जुडऩा वाकई बड़ी उपलब्धि है। रेडबुल शटल अप के साथ मेरा अब तक का सफर बेहतरीन रहा है और आगे आने वाले सालों में यह साझेदारी और मजबूती से आगे बढ़ती हुई मुझे दिख रही है।’

रेडबुल शटल अप के विजेताओं की जोड़ी देवाहुति और मालिनी बरुआ ने कहा हम रेडबुल शटल अप फाइनल को जीतकर बेहद उत्साहित है। हमने इस टूर्नामेंट के लिए काफी अच्छी तैयारी की थी। देश की बेस्ट टीमों के सामने शानदार खेल दिखाना हमेशा बहुत ही अच्छा अनुभव रहा है। यह देखकर बहुत अच्छा लग रहा है कि रेडबुल जैसे ब्रैंड उभरती हुई महिला खिलाडिय़ों को सपोर्ट कर रही है और हमें अपनी प्रतिभा देश के लोगों के सामने पेश करने के लिए एक प्लेटफॉर्म दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *