reethagarh

मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रही है रीठागाड़ पट्टी

– कांग्रेस नेता व पूर्व दर्जामंत्री बिट्टू कर्नाटक ने किया क्षेत्र का भ्रमण

अल्मोड़ा। भैसियाछाना ब्लाक की रीठागाड़ पट्टी आजादी के 77 साल बाद भी विकास की मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रही है। रीठागाड़ पट्टी जनसंघ के संस्थापक और पूर्व विधायक गोविंद सिंह बिष्ट की कर्मस्थली रही है। रीठागाड़ पट्टी के लोग आज भी सडक़, रास्तों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और शिक्षा जैसी मूलभूत सुविधाओं से जूझ रही है। रीठागाड़ पट्टी की जनता की समस्याओं को देखते हुए उत्तराखंड कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं पूर्व दर्जामंत्री बिट्टू कर्नाटक क्षेत्र का भ्रमण किया और लोगों से लोगों की समस्याओं को सुना और देखा। रीठागाड़ पट्टी में निर्माणाधीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के नवनिर्मित भवन में लाखों रूपये खर्च होने के बाद भी छत नहीं पड़ पाई है।

Bittu

बिट्टू कर्नाटक ने स्थानीय लोगों के साथ रीठागाड़ पट्टी का भ्रमण किया और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कनारीछीना की स्थिति को देखा। उन्होंने जिलाधिकारी अल्मोड़ा को फोन करके उक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के निर्माण के लिए जिला योजना से धन आवंटित करने की मांग की। कर्नाटक ने बताया कि जिलाधिकारी द्वारा उनसे लिखित में पत्र मांगा गया है तथा सकारात्मक आश्वासन दिया गया है।

कर्नाटक ने कहा कि रीठागाड़ पट्टी में आज भी कई गांव ऐसे हैं जिनमें सडक़ तो दूर की बात है पैदल चलने के लिए सीसी मार्ग तक नहीं बन पाए हैं। पक्के रास्ते न बनने की वजह से लोग खेत और रोखडों पर चलने को मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि एक तरफ जहां स्मार्ट सिटी की बात हो रही है वहीं दूसरी ओर रीठागाड़ पट्टी को देखकर ऐसा लगता है कि आज तक निर्वाचित जनप्रतिनिधियों ने इस क्षेत्र की ओर कोई ध्यान ही नहीं दिया।

उन्होंने कहा कि बेहद दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है कि आजादी के 77 साल बाद भी यहां के लोग चलने के लिए खड़ंजे को मोहताज हंै। सडक़ों की बात करने वाली सरकार रीठागाड़ पट्टी क्षेत्र में सीसी मार्ग तक नहीं बना पाई।

उन्होंने कहा कि यदि रीठागाड़ पट्टी क्षेत्र में स्वास्थ्य की दृष्टि से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण नहीं होता है तो स्थानीय लोगों को साथ में लेकर वे आंदोलन का बिगुल फूंक देंगे जिसके लिए सीधे तौर पर प्रदेश सरकार, स्थानीय निर्वाचित जनप्रतिनिधि और स्वास्थ्य विभाग के आल्हा अधिकारी जिम्मेदार होंगे। कर्नाटक ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कनारीछीना के निर्माण के दौरान विशेष सावधानी बरती जाए क्योंकि जहां पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र निर्माणाधीन है वहां पर आधा दर्जन से अधिक भवनों को खतरा बना है।
इस अवसर पर धन सिंह नेगी, राम दत्त भट्ट, महेन्द्र सिंह बानी, गोपाल सिंह नेगी, महिपाल सिंह नेगी, प्रताप सिंह नेगी, महेन्द्र सिंह नेगी, तुलसी देवी,दुर्गा देवीए,पार्वती देवी, सुनीता देवी आदि मौजूद रहे।

सडक़ निर्माण के लिए लोक निर्माण विभाग को लिखा पत्र

क्षेत्रीय भ्रमण के दौरान बिट्टू कर्नाटक को पतलचौरा के लोगों ने बताया कि कनारीछीना- बिनूक- पतलचौरा सडक़ मार्ग का निर्माण कार्य विगत पॉच से लंबित पड़ा है। जिससे यहां के लोगों को बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। लोगों की इस समस्या को संज्ञान में लेते हुए कर्नाटक ने लोक निर्माण विभाग को पत्र लिखकर उक्त सडक़ मार्ग का निर्माण कार्य जल्द शुरू करने की मांग की है। अधिशासी अभियंता को लिखे अपने पत्र में उन्होंने कहा कि यदि सडक़ निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया तो यहो के लोग आंदोलन के लिए मजबूर हो जाएंगे। उन्होंने लिखा है कि सडक़ न होने की वजह से गर्भवती महिलाओं, बीमार लोगों बुर्जुर्गो को बड़ी कठिनाई होती है, इससे कई अप्रिय घटनाएं भी हो चुकी हैं।

Follow us on Google News

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top