न्यूज़

उत्पीड़न की घटनाओं के खिलाफ छात्राओं का हल्ला बोल :

Report ring desk

पिथौरागढ़। महिलाओं पर बढ़ती यौन हिंसा व विभित्य घटनाओं और उस पर शासन-शासन के असंवेदनशील रवैये से आक्रोशित छात्राओं ने पिथौरागढ़ में एकजुट होकर प्रदर्शन किया। साथ ही इस तरह की घटनाओं को रोकने की मांग की।

बीते दिन ‘हाथरस’ व उत्तर प्रदेश के लग-अलग स्थानों में हुई उत्पीड़़न की घटनाओं पर दुख जताते हुए छात्राओं ने कलक्ट्रेट के समीप एकजुट होकर उतर प्रदेश के शासन-शासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। साथ हीइस तरह की घटनाओं को रोकने की मांग को लेकर यूपी के पुलिस महानिदेशक को भी ज्ञापन भेजा।

यह विदित है कि यौन हिंसाध्अपराधों के यह मामले किसी क्षेत्र विशेष तक सीमित नहीं हैं और रोज़मर्रा के जीवन में महिलाओं को इस तरह की हिंसा का सामना विभिन्न रूपों में करना पड़ता है. हमारा राज्य उत्तराखंड भी इसका कोई अपवाद नहीं है. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एन.सी.आर.बी) की हालिया रिपोर्ट भी इस बात की तस्दीक़ करती है।

वह भी तब जब यौन हिंसा से जुड़े 99 प्रतिशत मामले आपराधिक मामलों के तौर पर दर्ज ही नहीं हो पाते हैं.(राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण 2015.16)
छात्राओं ने इस दौरान अपनी बात रखते हुए कहा कि हाथरस में हुई घटना घटत बेहद शर्मसार करने वाली है। इन घटनाओं में रोक लगना जरूरी है।

इस दौरान छात्रा भागीरथी, नूतन, राधा, चेतना, सोनल, अमीषा, ज्योेतिका, निशा, मनीषा, मोनू, प्रियंका, योगता, सपना, संगीता,सोनाली, कंचन, तनुजा, करन, बसंती, योगिता समेत तमाम छात्राएं मौजूद रही।



Leave a Reply

Your email address will not be published.