a14bf3c9 cfcc 4cf3 b8f5 78775133de36

गांधी जी और हकीम अजमल खां के एक थे विचारःअहमद

Report ring desk

नई दिल्ली। जरूरतमंदों की मदद के लिए ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस की ओर से गांधी जयंती के अवसर पर निःशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर का उद् घाटन करते हुए दिल्ली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मतीन अहमद ने कहा कि महात्मा गांधी और स्वतंत्रता सैनानी हकीम अजमद खां के विचार एक थे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके अजमल खां ने देसी चिकित्सा के विकास के लिए दिल्ली में आयुर्वेेद व यूनानी तिब्बिया कॉलेज की स्थापना की और उसकी बुनियाद 1916 में गांधी जी ने रखी।8e79d4e3 39ca 4993 a79f 0f2202b39fce

मतीन अहमद ने कहा कि जनहित कार्यों को धर्म से अलग रखने की जरूरत है और इस प्रकार के निःशुल्क चिकित्सा शिविर से जनता में जागरुकता आती है, साथ ही उसे लाभ मिलता है। उन्होंने कहा कि यूनानी पैथी के विकास और उत्थान के लिए केंद्र और राज्य सरकारों को विशेष ध्यान देना चाहिए।

वहीं, इस अवसर पर ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस के राष्ट्रीय मानद महासचिव डॉ, सैयद अहमद खां ने कहा कि संस्था द्वारा मिशन 2025 के अंतर्गत यूनानी उपचार जनता के द्वार में हम यूनानी पैथी के प्रति जनता को जागरुक करने का अभियान चला रहे हैं ताकि लोगों को हानिरहित सुलभ और कारगर इलाज आसानी से मिल सके।

शिविर को ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस की वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ. शहनाज परवीन ने संचालित किया। उनके साथ डॉ, जकीउद्दीन, डॉ. इलियास मजहर हुसैनए डॉ. महमूद अली, डॉ. अलताफ अहमद, डॉ. तजमीन नैयरए डॉ, डी आर सिंहए डॉण् सबाहत, डॉ. नीतू शर्मा, डॉ. कुबैत आजमी, डॉ. तइय्यब अंजुमए हकीम अताउर्रहमान, हकीम एजाज अहमद, और सलाउद्दीन के अलावा शाजान साद, मोहम्मद सादिक, सैयद आबिद हसन व आर्शिक नर्गी आदि ने अपनी सेवाएं प्रदान कीं।

Follow us on Google News

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top