न्यूज़

किसान कश्मीर सिंह की मौत को परिजनों ने बताया शहादत

Report ring desk

रुद्रपुर। किसान आंदोलन में गाजीपुर सीमा पर आत्महत्या करने वाले किसान कश्मीर सिंह की मौत को बेटों ने शहादत बताया है। उनका कहना है कि पिता से किसानों की तकलीफ बर्दाश्त नहीं हुई और उन्होंने शहादत दे दी। किसान की मौत पर बड़ी संख्या में लोग सांत्वना देने पहुंच रहे हैं। किसानों के आक्रोश को देखते हुए कश्मीर सिंह के घर के आसपास यूपी पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं।

गदरपुर से लगे बिलासपुर के पछियापुर गांव निवासी किसान कश्मीर सिंह 71 की मौत की सूचना मिलने पर गांव में शोक की लहर दौड़ गई।

परिजनों के मुताबिक कश्मीर 25 दिन पहले गाजीपुर सीमा के लिए रवाना हुए थे। परिजनों के मुताबिक वह बेहद मजबूत दिल वाले व्यक्ति थे लेकिन कड़ाके की सर्दी में धरने पर बैठे किसानों का दर्द उनसे सहन नहीं हो पाया और इस वजह से ही उन्होंने शहादत दे दी। बेटों का कहना है कि पिता की शहादत पर उन्हें गर्व है।
कश्मीर सिंह के परिवार में 95 साल के पिता राम सिंह, तीन बेटे और एक विवाहित बेटी है। उनके दो बेटों प्रताप सिंह और सतनाम सिंह का विवाह हो चुका है।



Leave a Reply

Your email address will not be published.