साहित्य

भाई बहन का प्यार सदाबहार…

GD Pandey, Delhi

भाई बहन का प्यार सदाबहार,
हैअद्भुत, अनुराग अपरंपार.
भाई की कलाई पर,
बहन का राखी बंधन,
पावन पर्व है रक्षाबंधन.
सहोदर हो, या हो मुंहबोली,
बहन तो बहन है, भाई के वास्ते,
स्नेह से भरपूर, रहती सदा उसकी झोली.

भाई बहन की परस्पर शुभकामनाएं,
ना कोई लालच, ना ही अपेक्षाएं.
भाई पर भरोसा अटूट,
बहन का बंधन अटूट,
अटूट संबंध का संबंध अटूट.
दो और तीन अक्षरों से बने, दो शब्दों के बीच,
ढाई अक्षर के शब्द का रिश्ता अटूट.

भाई सदैव बहन का रक्षक,
मां और मातृभूमि का रक्षक,
परिवार, समाज और देश का रक्षक.
विषम परिस्थितियों में,
आर्थिक कठिनाइयों में,
समय की पुकार पर परिवार का रक्षक.

समाज विकास के अवरोधक,
भ्रष्टाचार, शोषण और उत्पीड़न,
बेमिसाल बेरोजगारी, कमरतोड़ महंगाई,
सभ्य समाज की सभ्यताओं का विकास , समस्याओं के समाधान की
राह दिखाता है ,समाज का चेतनशील भाई.
जब हो इंतजार,बुनियादी सवालों के जवाब का,
क्रांतिकारी भाई ,आगे आता है,
लेकर नारा सामाजिक इंकलाब का.

देश की सीमाओं का रक्षक,
नभ जल थल में मां भारती का रक्षक,
दुश्मन से लोहा लेता,
जान हथेली पर रखकर,
जांबाज फौजी भाई, देश की आन बान शान का रक्षक,
दुश्मन जब आ जाए रण में,
भाई, देश का वीर बांकुरा,
बन जाता है ,दुश्मन का प्राणभक्षक.

आज के दौर में बहन,
कहीं किसी से कम नहीं,
भाई की बराबरी करने वाली,
नारी शक्ति का शौर्य है बहन.
अब स्वयं की रक्षक भी है बहन,
दुश्मन की संहारक भी है बहन,
परिवार, समाज और देश की संचालक भी है बहन,
शिक्षा, चिकित्सा, खेलकूद, आर्थिक, राजनीतिक विज्ञान, टेक्नोलॉजी,
सामरिक क्षेत्र समेत सभी क्षेत्रों में, अपना लोहा मनवा रही है भाई की बहन.

भाई बहन का प्यार सदाबहार,
राखी बांधना और बंधवाना रहे बरकरार.
भाईचारा, प्रेम भाव, चेतनशीलता, स्वाभिमान, इंसानियत, संघर्षशीलता.
प्रगतिशील विचार बने समाज का सैद्धांतिक आधार, भाई बहन का प्यार रहे सदाबहार.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *