न्यूज़

खटीमा में लाॅकडाउन सख्त, परचून से लेकर सब्जी की दुकानें भी बंद

बेवजह घूमने वालों का पुलिस ने काटा चालान
रोजमर्रा की वस्तुएं खरीदने वाले हुए परेशान

By Naveen Joshi
खटीमा। शनिवार और रविवार को लगने वाले लाॅकडाउन का इस बार प्रशासन ने बेहद सख्ती से पालन करवाया। इस दौरान परचून से लेकर सब्जी की दुकानें भी बंद रखी और बेवजह घूम रहे दर्जनों लोगों का चालान काटा, इससे बाजार में पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा। वहीं, दुकानें बंद होने से रोजमर्रा की वस्तुएं खरीदने वालों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। दूध, सब्जी खरीदने बाजार गए लोगों को प्रशासन की सख्ती का भी सामना करना पड़ा।

तहसील क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के मामले रोजाना बढ़ रहे हैं। शुक्रवार रात 15 केस पाॅजिटिव आए तो शनिवार को 35 और लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। बीते तीन दिनों में खटीमा में 112 केस कोरोना के सामने आने पर जिला प्रशासन ने पूरे जिले में सिर्फ खटीमा तहसील क्षेत्र में ही इस बार लाॅकडाउन किया और इसका सुबह से सख्ती से पालन किया गया। मेडिकल स्टोरों को छोड़कर किसी भी प्रकार की दुकान को खोलने की इजाजत नहीं दी गई।

इस दौरान एसडीएम निर्मला बिष्ट, तहसीलदार यूसुफ अली, ईओ धर्मानंद शर्मा, एसएसआई देवेंद्र गौरव, बाजार चौकी इंचार्ज अनिल चौहान ने खुद ही सड़क पर निकलकर बेवजह घूम रहे लोगों को खदेड़ा। कई लोगों के तो चालान भी किए गए। इससे कुछ ही समय बाद ही बेवजह घूम रहे लोग सड़कों से गायब हो गए। नतीजतन शहर की सड़कें सन्नाटे में तब्दील हो गई। उधर, रोजमर्रा की वस्तुएं खरीदकर अपना गुजर बसर करने वालों को काफी परेशानी हुई।

किशनपाल वाली गली सील

खटीमा। एक किन्नर की रिपोर्ट पाॅजिटिव आने पर प्रशासन ने वार्ड नंबर 13 में किशनपाल वाली गली सील कर दी। सभासद विश्वनाथ यादव ने बताया कि वार्ड में मजदूर रहते हैं। गली सील होने से उन्हें खाने-पीने की परेशानी होगी। उन्होंने प्रशासन से मांग की कि मजदूरों को चिन्हित कर इनके घर राशन दूध आदि भिजवाने की व्यवस्था की जाए। वहीं, प्रशासन ने मोहल्ला शिव काॅलोनी और छिनकी को भी कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है।



Leave a Reply

Your email address will not be published.