न्यूज़

एएनएम और डाक्टर से लोग परेशान, जिलाधिकारी को लिखा पत्र

Report ring Desk

नैनी (अल्मोड़ा)। राजकीय एलोपैथिक चिकित्सालय नैनी में डाक्टर और एएनएम सेंटर में एएनएम के नहीं रहने के कारण स्थानीय लोगों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कार्यस्थल पर इनके न रहने से आए दिन लोगों को मायूस होकर वापस लौटना पड़ता है जिससे लोगों में भारी रोष है। अब स्थानीय लोगों और जनप्रतिनिधियों ने पत्र लिखकर इसकी शिकायत जिलाधिकारी से की है।

जिलाधिकारी को लिखे पत्र में जनप्रतिनिधियों एवं स्थानीय लोगों ने शिकायत की है कि नैनी एएनएम सेंटर में तैनात एएनएम जिला मुख्यालय अल्मोड़ा में रहती है, जो नैनी स्थित एएनएम सेंटर में कभी कभार ही आती है। इसके आने-जाने का भी कोई समय या पूर्व सूचना नहीं रहती जिससे गर्भवती महिलाओं, नौनिहालों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। कभी कभी तो गर्भवती महिलाओं व नौनिहालों को टीके लगाने या अन्य कार्य के लिए एएनएम का घंटों इंतजार करना पड़ता है और निराश होकर घर लौटना पड़ता है। यही नहीं जन्म और मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने वालों को भी इसी प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। एएनएम को ढूंढने पर भी वह नहीं मिल पाती है।

यही हाल राजकीय एलोपैथिक चिकित्सालय नैनी में तैनात डाक्टर का भी है जो यहां से 35 किमी दूर बाड़ेछीना में रहते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि वेे सप्ताह में एक ही दिन यहां दिखते हैं जिससे लोगों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। डाक्टर और एएनएम के अपने कार्यस्थल पर न रहने के कारण यहां के लोगों को या तो निराश होकर वापस घर लौटना पड़ता है या फिर यहां से 30 किमी दूर पनुवानौला जाकर अपना इलाज करवाना पड़ता है।

मालूम हो कि राजकीय एलोपैथिक चिकित्सालय नैनी में आसपास के दर्जनों गांवों के लोग अपने छोटे मोटे इलाज के लिए आते थे लेकिन अब डाक्टर और एएनएम के अपने कार्यस्थल पर न रहने के कारण लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *