देश दुनिया

International Yoga Day: चीन की राजधानी बेजिंग में जुटे सैकड़ों लोग, तंदुरुस्ती के लिए किया योग

By Anil Azad Pandey, Beijing

दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इस बीच रविवार को चीन में 7वें इंटरनेशनल योग दिवस की धूम रही। चीन के विभिन्न शहरों में योग प्रेमियों ने योगाभ्यास किया। राजधानी पेइचिंग के इंडिया हाउस में सैंकड़ों की संख्या में जुटे लोगों में योग के प्रति उत्साह देखने लायक था। जिसमें चीनी व भारतीयों सहित कई देशों के नागरिकों ने शिरकत की।

सुबह साढ़े छह बजे शुरु हुए कार्यक्रम में योग गुरु मोहन भंडारी के नेतृत्व में योगी योगा केंद्र से जुड़े शिक्षकों ने ताड़ासन, वृक्षासन, त्रिलोकासन व सुप्त पवनमुक्तासन आदि आसन करवाए। इसके पश्चात स्टेज पर एडवांस लेवल के योग आसन भी किए गए, जिन्हें देखकर इंडिया हाउस के प्रांगण में उपस्थित लोगों ने खूब तालियां बजायी।

इस मौके पर राजदूत विक्रम मिस्री ने कहा कि पिछले एक साल के दौरान कोरोना महामारी के कारण हम सभी ने जिस बात का सबसे ज्यादा महत्व समझा, वह है स्वास्थ्य और तंदुरुस्ती। जाहिर सी बात है कि इसके कारण इस साल के योग दिवस की थीम, ‘तंदुरुस्ती के लिए योग’ रखी गयी है।

उन्होंने मन और शरीर को स्वस्थ रखने में योग की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आजकल पूरा विश्व कोविड-19 महामारी के खिलाफ़ लड़ाई लड़ रहा है। जबकि वैक्सीन व उपचार पर पूरा ध्यान केंद्रित हुआ है।

ऐसे में योग न केवल हमें शारीरिक मजबूती प्रदान करने का काम करता है, बल्कि आध्यात्मिक शक्ति भी देता है। मिस्री ने यह भी कहा कि दूतावास के स्वामी विवेकानंद सांस्कृतिक केंद्र द्वारा योग सहित विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन समय-समय पर किया जा रहा है। आने वाले दिनों में योगा प्रोफेशनल्स को ट्रेनिंग के मद्देनजर प्रमाण पत्र भी दिए जाएंगे।

इससे पहले राजदूत मिस्री ने योगी योगा के संस्थापक मोहन भंडारी, वीयोगा के संस्थापक आशीष बहुगुणा के साथ-साथ योग शिक्षक एन.के.सिंह व सोहन सिंह आदि को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। जबकि योगासनों की वीडियो प्रतियोगिता में वीयोगा की यांग पाई ने पहला, 80 वर्षीय योग प्रेमी वांग शुच्यांग ने दूसरा और ली शुआंगशुआंग ने तीसरा पुरस्कार जीता।

कार्यक्रम को सफल बनाने में डीसीएम एक्विनो विमल, फर्स्ट सेक्रेटरी(कल्चर) राजश्री बेहरा, फर्स्ट सेक्रेटरी दीपक पद्मकुमार, सेकंड सेक्रेटरी(कल्चर) अतुल जनार्दन, दूतावास के कर्मचारियों, योग गुरु मोहन भंडारी व दूतावास के अंशकालिक योग शिक्षक आशीष बहुगुणा आदि ने सक्रियता से भाग लिया।

यहां बता दें कि पूरी दुनिया में योग दिवस 21 जून को मनाया जाता है। 27 सितंबर 2014 को संयुक्‍‍त राष्‍ट्र महासभा के भाषण में भारतीय पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस मनाए जाने की अपील की थी। इसके बाद 123 सदस्‍यों की बैठक में इस दिवस का प्रस्‍ताव पारित हुआ। अमेरिका की अपील के बाद, 90 दिनों के अंदर 177 देशों ने अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस का प्रस्‍ताव पारित किया।

इस तरह 21 जून 2015 को पूरे विश्‍व में पहली बार अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस मनाया गया, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। उसके पश्चात हर वर्ष इस अवसर पर लाखों योग प्रेमी विभिन्न देशों में योग अभ्यास करते रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *