न्यूज़

12वीं का छात्र ऐसे तैयार कर रहा था फर्जी आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट, पकड़ा गया

Report ring desk

देहरादून। एसओजी ने कोविड -19 की फर्जी आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट तैयार करने वाले किशोर को पकड़ा है। किशोर के पास से छह फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट, एक कलर प्रिन्टर, एक आई कार्ड , एक आधार कार्ड और एक मोबाइल बरामद किया है। प्रति रिपोर्ट वह 150 रुपये वसूल करता था।

इंस्पेक्टर ऐश्वर्या पाल ने बताया कि किशोर 12 कक्षा में पढ़ता है और लैपटाप की दुकान पर काम करता है। किशोर को मोबाइल की अच्छी जानकारी है। उसने मोबाइल में पिक्सआर्ट और अडॉव लाइट रूम और अन्य एप डाउनलोड किए थे।

आहूजा लैब की आनलाइन आरटीपीसीआर रिपोर्ट को निकाल कर एप के माध्यम से आहूजा लैब की असली रिपोर्ट को एडिट कर पहले अपने नाम की एक फर्जी आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट तैयार की। फिर जरूरतमंद ग्राहकों को अपनी फर्जी रिपेार्ट दिखाकर यकीन दिलाता था कि वह बिना सैंपल के ही आहूजा लैब की आरटीपीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट तैयार करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *