pubg
यूथ

‘खेलोगे PUBG, बेचोगे सब्जी’, उतरता नहीं इसका नशा आसानी से

By Aashish Pandey 

हल्द्वानी। मोबाइल हमारे जीवन का हिस्सा बन गया है। घर से दूर होने के बाद अपनों के आसपास रहने का अहसास भी मोबाइल ही कराता है। बावजूद इसके पेरेंट्स बच्चों में मोबाइल की लत से परेशान हैं। इसकी वजह मोबाइल में गेम खेलने का नशा है। वैसे तो मोबाइल पर कई गेम खेले जा सकते हैं मगर इन दिनों पबजी का सिर चढ़कर जादू बोल रहा है। देर रात बच्चों के कमरों से ‘मारो – मारो’ की आने वाली आवाज पेरेंट्स को परेशान कर रही है। इस गेम की लत को लेकर मेम्स भी बन रहे हैं। स्टूडेंट्स अपने दोस्तों को इसकी लत छुड़ाने के लिए ‘खेलोगे पबजी बेचोगे सब्जी’ कहकर आगाह भी कर रहे हैं। लेकिन इस गेम का नशा एक बार चढ़ जाए तो आसानी से उतरता नहीं है।

 एक तरीके का बैटल होता है यह

पबजी का एक गेम  25 से 30 मिनट का होता है। यह गेम सिंगल, डबल और स्क्वाड में खेला जाता है। एक गेम में सौ लोग होते हैं। मानो चार लोगों एक स्वाक्ड है। गेम शुरू होते समय सभी एक प्लेन में होते हैं। प्लेन से उतरने के लिए उन्हें अपनी लोकेशन ढूंढनी होती है। निश्चित जगह पर उतरने के बाद अपनी पोजिशन लेते हैं और जरूरत का सामान जमा करते हैं।

pubg

इस सामान में बंदूक, फस्ड एड किट, एनर्जी ड्रिंक, पेन किलर, बैंडेज होता है। इसके बाद एनमीज को मारना होता है। यह एक तरीके का बैटल होता है,  इसे खेलने वाले अपनी टीम के साथ एनीमीज ( अन्य प्लेयर) को मारते हैं।  गेम एक  ब्लू जोन होता है। यह जोन धीरे धीरे आगे बढ़ता  है। जिसके अनुसार प्लेयर अपना स्थान बदलते हैं और एनीमीज को मारते हैं। गेम के समय के साथ ब्लू जोन भी छोटा होते रहता है।। अंत में कोई एक स्क्वाड ही गेम जीत पता है। उसे विनर विनर, चिकन डिनर का अवार्ड मिलता है। इसका बकायदा टूर्नामेंट भी होता है, जिसमें प्लेयर अपनी टीम के साथ मैच में एन्ट्री लेते हैं।

pubg

इसे भी पढ़ें: नैनीताल में तीन समलैंगिक किशोरियों में विवाद, एक ने झील में झलांग लगाई

खेलने को अभी भी करता है मन 

पबजी आजकल हर युवा के मोबाइल में आसानी से मिल जाएगा। शुरूआत में यह गेम आसानी से समझ में नहीं आता है। धीरे-धीरे इसकी लत लग जाती है। पबजी प्लेयर को समय की परवाह नहीं रहती है। बीसीए के छात्र विराट (बदला नाम ) बताते हैं कि इस गेम के बारे में दोस्तों ने बताया। दूसरों को खेलते देख रुचि बढ़ी तो खुद खेलना शुरू किया । कब इसकी लत लगी पता ही नहीं चला,  पढ़ाई भी चौपट हो गयी थी। एक दिन में 15 से 20 मैच खेल लेता था। गेम खेलने में रात के दो या तीन बज जाते थे। इससे कालेज का रूटीन भी डिस्टर्ब  हो गया था।एग्जाम के चलते इसकी लत कुछ कम हो गयी, खेलने को अभी भी मन करता है।

2017 में लांच हुआ था पबजी 

पबजी (PUBG) का पूरा नाम प्लेयर अननोन्स बैटलग्राउंड (Player Unknown’s Battlegrounds)  है। यह गेम को 2017 में लांच हुआ था।  सबसे पहले इसको माइक्रोसाफ्ट विंडोज( Microsoft Windows) के लिए बनाया गया था और उसके बाद जब इसका इस्तेमाल ज्यादा होने लगा तो इसे एंड्रॉयड ( Android) और ios  यूजर्स के लिए भी लांच कर दिया गया।

रोजना खेलने वाले लोग 3 करोड़ से ज्यादा

इस गेम को आयरलैंड  निवासी BRENDANE GREENA ने बनाया । यह गेम युवाओं को काफी पसंद है। भारत में इस गेम के लगभग 3 करोड़ 30 लाख यूजर्स हैं जबकि  50 मिलियन लोग भारत में इसे डाउनलोड कर चुके हैं। रोजना खेलने वाले लोग 3 करोड़ से ज्यादा है। PUBG गेम 1 दिन में लगभग 28 करोड़ कमाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *