कला संस्कृति देश दुनिया

ऋषिकेश में योग फेस्टिवल की धूम, 56 देशों से पहुंचे योग प्रेमी

प्रकृति की गोद में गंगा नदी के किनारे बसे खूबसूरत ऋषिकेश को दुनिया की योग कैपिटल के रूप में भी जाना जाता है। साल भर वहां देश-विदेश के योग प्रेमी योगाभ्यास करने पहुंचते रहते हैं।

yoga festival

By Anil Azad Pandey

उत्तराखंड के ऋषिकेश में 31 वें इंटरनेशनल योग फ़ेस्टिवल का आयोजन किया गया। इस दौरान पूरी दुनिया के योग प्रेमियों ने योग से जुड़े विभिन्न क्रियाकलापों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। 1 मार्च से शुरू हुए विज़न 2020 थीम पर आधारित फेस्टिवल में 56 देशों के लगभग एक हज़ार लोगों ने शिरकत की। हालांकि 7 मार्च को संपन्न हुए फेस्टिवल में चीन के तमाम लोग कोरोना वायरस के प्रभाव के चलते हिस्सा नहीं ले सके। लेकिन योग के प्रति चीनी लोगों का लगाव और प्यार देखने लायक है। वे भारत और योग संस्कृति से बेहद प्रेम करते हैं। इस दौरान उन्होंने चीन से ही इस फेस्टिवल पर नजर बनाए रखी। उन्हें इस महोत्सव में न जा पाने का अफसोस तो है, लेकिन वे स्थिति की गंभीरता को भी समझते हैं।

मूल रूप से ऋषिकेश वासी और पिछले 12 वर्षों से बीजिंग में रह रहे, वी योग एकेडमी के संस्थापक आशीष बहुगुणा ने बताया कि सात दिवसीय महोत्सव के दौरान योग संबंधित कार्यशालाओं और कक्षाओं के अलावा व्याख्यान, प्रवचन व कई संवाद सत्रों का आयोजन किया गया। इसके साथ ही प्रतिभागियों को प्राचीन भारतीय दर्शन, मानव सशक्तीकरण के बारे में भी जानने का अवसर मिला।

गौरतलब है कि परमार्थ निकेतन योग आश्रम के स्वामी चिदानंद मुनि नेतृत्व में 31 वां योग फेस्टिवल शानदार ढंग से मनाया गया। यहां बता दें कि प्रकृति की गोद में गंगा नदी के किनारे बसे खूबसूरत ऋषिकेश को दुनिया की योग कैपिटल के रूप में भी जाना जाता है। साल भर वहां देश-विदेश के योग प्रेमी योगाभ्यास करने पहुंचते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *