न्यूज़

बड़े भाई ने रिक्शा चलाकर बहन को पढ़ाया, अब बहन ने कलेक्टर बनकर दिखाया

Report ring desk

नई दिल्ली। अगर हौंसला बुलंद हो तो कोई भी जंग जीती जा सकती है। इसी बात को साबित किया महाराष्ट्र के नादेड़ जिला की वसीमा शेख ने। घर की आर्थिक हालात ठीक न होने के बावजूद उन्होंने महाराष्ट्र पब्लिक सर्विस कमीशन में टॉपर्स की लिस्ट में तीसरा स्थान पाया है। अब वसीमा वह डिप्टी कलैक्टर बन गई हैं।

महाराष्ट्र के नादेड़ जिले के सांघवी गांव की रहने वाली वसीमा शेख की घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। पिता मानसिक रूप से पीडि़त हैं। परिवार के भरण पोषण की जिम्मेदारी उनके बड़े भाई उठाते हैं। वसीमा चार भाई बहनों में चौथे नम्बर की है। उन्होंने एक साक्षात्कार में बताया कि गरीबी आपके सपनों की उड़ान को नहीं रोक सकती।

वसीमा के भाई ने रिक्शा चलाकर उसकी पढ़ाई का खर्च उठाया। भाई और मॉं की मेहनत मजदूरी से उन्होंने इस मुश्किल जंग को जीत कर दिखाया। इससे पहले भी वर्ष 2098  में वसीमा ने एमपीएससी की परीक्षा पास की थी। इस परीक्षा को पास कर वह सेल्स टैक्स इंस्पेक्टर बनी थी। उनका सपना यही पूरा नहीं हुआ उन्होंने एमपीएससी की परीक्षा दी और इसमें टॉप करके वह डिप्टी कलेक्टर बन गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *