यूथ

गांव की बेटी ने छोटे-छोटे चित्रों से दिया है बड़ा संदेश

Diwan karki
अल्मोड़ा। कोरोना वायरस कोविड-19 का डर सारे देश-दुनिया को सता रहा है। शहर ही नहीं गांव के लोग भी इस भयावह महामारी से भयभीत हैं और अपने घरों में दुबके हुए हैं। कोरोना से बचाव का अभी केवल एक ही उपाय दिखता है, वह है सोशल डिस्टेंसिंग। इसी को अपनी पेंटिंग के माध्यम से प्रदर्शित किया है रचना कार्की ने।

जनपद अल्मोड़ा के ग्राम चमुवां स्थित गौनाड़ी वार्ड में रहती हैं रचना कार्की। रचना के पिता दिल्ली में प्राइवेट जॉब करते हैं। रचना को बचपन से ही चित्रकला में दिलचस्पी है। उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय चमुवां से हाईस्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद रचना आगे की पढ़ाई करने के लिए गांव से 6 किमी दूर जीआईसी चौगर्खा नैनी गई, वहां से 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद अब रचना घर पर है। आगे की पढ़ाई करने की इच्छा तो है, पर गरीबी और कालेज की दूरी उन्हें घर बैठने को विवश कर रही है।

कोरोना से बचाव का संदेश देती रचना की पेंटिंग

रचना ने यों तो अब तक कई पेंटिंग बनाई हैं जिनमें भगवान के, समाज के, प्रकृति समेत कई पेंटिंग शामिल हैं। अब जब देश दुनिया के लोगों को कोरोना का भय सताने लगा तो ऐसे में रचना की इस पेंटिंग ने गांव ही नहीं बल्कि सभी लोगों को जागरूकता का खूबसूरत संदेश दिया है।

रचना बताती है कि 25 से भी ज्यादा तस्वीरों वाली इस पेंटिंग को बनाने में उनका केवल दो घंटे का समय लगा। वह भी बिना किसी मार्गदर्शन के। इन छोटे-छोटे अनेक चित्रों के माध्यम से रचना ने लोगों को कोरोना से बचाव का एक बड़ा संदेश दिया है। आप यदि इसके एक-एक चित्र को ध्यान से देखेंगे और उस पर अमल करेंगे तो आप कोरोना से अपना और अपने परिवार का बचाव कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *