न्यूज़

म्यर पहाड़ उत्तराखण्ड सांस्कृतिक समिति ने किया कोरोना योद्धाओं का सम्मान

70 संस्थाओं और विशिष्ठजनों को किया गया सम्मानित

Report ring Desk

नई दिल्ली। म्यर पहाड़ उत्तराखण्ड सांस्कृतिक समिति (पंजी.) की ओर से रविवार को ‘कोरोना योद्धा सम्मान समारोह’ का आयोजन किया गया। समिति की ओर से वेस्ट विनोद नगर के दुर्गा माता मंदिर में आयोजित इस समारोह में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली एवं राष्ट्रीय राजधानी परिक्षेत्र में कार्यरत ऐसी सामाजिक संस्थाओं/समितियों व विशिष्ट लोगों को सम्मानित किया गया, जिन्होंने कोरोना काल में अपनी जान की परवाह किए बिना समाज के लिए काम किया। सम्मान स्वरूप इन समितियों और विशिष्ठजनों को ‘कोरोना योद्धा प्रशस्ति पत्र’फूलों की मालाएं पहनाकर सम्मानित किया गया। सम्मान समारोह का शुभारंभ सभी संस्थाओं के प्रमुखों द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। ‘कोरोना योद्धा सम्मान समारोह’ का संचालन श्री हेम पंत ने किया।

कोरोनाकाल में इन संस्थाओं और कुछ प्रमुख लोगों ने जरूरतमंदों के लिए भोजन, दवाएं, मास्क, सेनेटाइजर, यातायात के साधन जुटाने के साथ ही इस महामारी की चपेट में आए लोगों को अस्पतालों में भर्ती करवाकर उनका इलाज करवाने और उन्हें इस गंभीर बीमारी से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। यही नहीं समाज के लिए दिन रात काम कर रही इन संस्थाओं ने जागरूकता अभियान चलाकर सरकार द्वारा जारी गाइड लाइनों का पालन करवाने के लिए घर घर जाकर प्रेरित भी किया। लोगों को इस गंभीर बीमारी से बचाव के उपाय बताए गए और निराश-हताश लोगों का हौंसला भी बढ़ाया।

सम्मान समारोह में 70 संस्थाओं और विशिष्ठजनों को कोरोना योद्धा सम्मान से सम्मानित किया गया। कोरोनाकाल में इन संस्थाओं और लोगों ने जरूरतमंद, असहाय, हताश और निराश लोगों की मदद करने में अपनी अहम भूमिका निभाई थी।

इन संस्थाओं को किया गया सम्मानित

जागृति लीला मैमोरियल फाउंडेशन, देवभूमि उत्तराखड एकता मंच, कल्याणी सामाजिक संस्था, उत्तरांचल भ्रात्रि सेवा संस्थान, यूके टीम इंडिया, कुमाऊं जनमंडल समिति, गढ़ कुमाऊं युवा समिति, गढ़वाल हितैषिणी सभा, भयात एनजीओ, शिक्षा से श्खिर तक, उत्तराखंड आवाज मंच, उत्तरांचल नवयुवक धार्मिक रामलीला कमेटी, कलश कलाश्री, बिजनेस उत्तरैणी, कुमाऊं सांस्कृतिक कला मंच, उत्तराखण्ड जन संरक्षण समूह, शांभवी समाज सेवा समिति, सांस्कृतिक मंडल कुमाऊं स्क्वायर, आरडब्ल्यू कुमाऊं, आरडब्लूए स्क्वायर वेस्ट विनोद नगर, पर्वतीय लोक कला मंच, यूथ4यूके, उत्तराखंड जन जागृति संघ, गढ़वाल धार्मिक एवं सांस्कृतिक मंडल, कुमाऊं सांस्कृतिक समिति, देवभूमि संस्कृत धार्मिक समिति, उत्तराखंड एकता संगठन, देवभूमि उत्तराखंड सांस्कृतिक मंडल, पर्वतीय कला केन्द्र, अल्मोड़ा भवन, सार्थक प्रयास, भुम्याल विकास मंच, उत्तरांचल सांस्कृतिक भ्रातृ समिति, मानव अधिकार एवं अपराध निमंत्रण संगठन।

व्यक्तिगत सहयोग के लिए सम्मानित किए गए समाजसेवी

इसके साथ ही कुछ प्रमुख समाजसेवियों को भी कोरोनाकाल में उनके द्वारा दिए गए विशेष सहयोग के लिए सम्मानित किया गया जिनमें वरिष्ठ पत्रकार चारू तिवारी, रणजीत गड़ाकोटी, प्रेमा धोनी, जगत सिंह बिष्ट, सुरेद्र हालसी, अनिल पानू, मोहन सिंह रावत, पीएन शर्मा, दिनेश दीवान नयाल, अजय रावत, संजय दरमोडा, बृजमोहन उपे्रती, डाक्टर विनोद विछेती, डाक्टर कुलदीप भंडारी, रवि नेगी, गीता रावत, हरेंद्र डोलिया, चंदन भैसोड़ा, अर्जुन राणा, उदय ममगई राठी, अनिल पंत, बीएन ढौडियाल, वी एन शर्मा, किशोर रावत, गिरीश कबडवाल, नारायण पपोला, जीएस अवाना, डाक्टर राजेश्वरी कापडी, सतीश कुमार, कश्मीरी लाल, शिवराज सिंह बिष्ट, लक्ष्य पांडे, संजय न्योली, दया सागर, पंडित मोहन लाल लसियाल।

हमें देवतुल्य कोरोना योद्धाओं को सम्मानित करने का अवसर मिला: कुन्दन भैसोड़ा

सम्मान समारोह में म्यर पहाड़ उत्तराखण्ड सांस्कृतिक समिति के अध्यक्ष कुन्दन भैसोड़ा ने कहा कि हमें देवतुल्य कोरोना योद्धाओं को सम्मानित करने का अवसर मिला है, हमारी समिति का विचार था कि समाज के लिए समर्पित सभी लोगों को एक मंच पर सम्मानित किया जाए। आज हमारी समिति ऐसे लोगों को सम्मानित करके बहुत खुश है, जो लोगों के जीवन में खुशियां लाए हैं। इन संस्थाओं और लोगों ने कोरोना महामारी में जिस साहस और धैर्य का परिचय दिया वह किसी से छुपा नहीं है। आज ये सभी संस्थाएं सम्मान के हकदार हैं जिन्होंने दिन-रात एक करके अपनी परवाह किए बिना लोगों की परवाह की और लोगों को नया जीवन दिया। म्यर पहाड़ उत्तराखण्ड सांस्कृतिक समिति का गठन भी इसी उद्देश्य से हुआ था कि उत्तराखण्ड की सांस्कृतिक विरासत को महानगर में भी सजोए और बचाया जा सके।

बाल कलाकारों ने जीत लिया लोगों का मन

सम्मान समारोह में बच्चों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। उत्तराखण्ड के परिधान में सजी-धजी नन्हीं सी बाल कलाकार तनिष्का भैसोड़ा ने जब मंच पर अपनी प्रस्तुति दी तो समारोह में उपस्थित दर्शक इस बाल कलाकार को एकटक देखे ही रह गए। तनिष्का उम्र भले ही अभी बहुत छोटी हो, लेकिन उसके शानदार नृत्य को देखकर समारोह में तालियों की गडग़ड़ाहट गूंजती रही। इसके अलावा बाल कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किए गए देशभक्ति गीत पर नाट्य मंचन भी दर्शकों को काफी पसंद आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *