न्यूज़

खटीमा में कोरोना बम फूटने के बाद किए कई इलाके सील

रैपिड एंटीजन टेस्टिंग में एक पटवारी, एक बाबू समेत चार और कोरोना संक्रमित मिले

By Naveen Joshi

खटीमा। सीमांत क्षेत्र में कोरोना का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को जहां आठ पटवारी समेत 21 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए, वहीं शनिवार को हुई रैपिड एंटीजन टेस्टिंग में एक पटवारी, एक बाबू समेत चार लोग कोरोना संक्रमित मिले। इसके बाद स्थानीय प्रशासन ने इन लोगों के निवास स्थल के आसपास करीब 50 मीटर के दायरे को बैरिकेडिंग लगाकर सील कर दिया है।
बता दें कि अब सरकारी विभागों में भी कोरोना ने दस्तक दे दी है। इस कारण अब तक कई सरकारी विभागों के कर्मचारी अपने स्वास्थ्य की जांच कर सैंपल दे चुके हैं, जिनकी रिपोर्ट आने का इंतजार है। फिलहाल इन सबके बीच तहसील में कार्यरत पटवारियों की कोरोना जांच रिपोर्ट ने काफी हड़कंप मचा दिया।

बृहस्पतिवार को एक पटवारी के संक्रमित पाए जाने के बाद शुक्रवार को आई रिपोर्ट में आठ पटवारी और उनके परिजन समेत कुल 21 लोग कोरोना पाॅजिटिव पाए गए। नागरिक चिकित्सालय के नोडल अधिकारी डाॅ.संजीव मिश्रा ने बताया कि अब तक 17 में से कुल 11 पटवारी कोरोना पाॅजिटिव आ चुके हैं। सभी को रुद्रपुर स्थित कोविड अस्पताल पहुंचा दिया है। शनिवार को तहसील के 37 कर्मचारियों की जांच की गई, जिसमें पटवारी, बाबू समेत चार लोग पाॅजिटिव आए। सभी को अभी होम क्वारंटीन किया गया है। क्योंकि ये चारों रैपिड टेस्ट में पाॅजिटिव आए हैं, इनका आरटी पीसीआर टेस्ट लेकर जांच के लिए भेजा जाएगा। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। अब तक कुल 79 लोगों को कोरोना संक्रमण हो चुका है।

वहीं, तहसीलदार यूसुफ अली ने बताया कि इन पटवारियों के निवास स्थल कोतवाली के पीछे स्थित कलसी वाली गली, राजीवनगर में गायत्री अस्पताल के पास, कंजाबाग में विद्युत सब स्टेशन के पास, सबोरा, आदर्श काॅलोनी और अमाऊं में कंटेनमेंट जोन बना दिए हैं, जबकि इससे पहले देवभूमि काॅलोनी और भूड़ में कंटेनमेंट जोन बनाया गया था। इसके अलावा तहसील में भी बैरिकेडिंग लगाकर आम लोगों की आवाजाही रोक दी है। तहसील में सैनिटाइजर का छिड़काव भी किया गया।

एसडीएम, तहसीलदार की रिपोर्ट निगेटिव आई

खटीमा। पटवारियों के कोरोना पाॅजिटिव निकलने के बाद एसडीएम निर्मला बिष्ट, तहसीलदार यूसुफ अली समेत 24 अधिकारियों और कर्मचारियों ने खुद के स्वास्थ्य की जांच कर सैंपल दिए। जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। इस पर एसडीएम, तहसीलदार समेत पूर्ति निरीक्षक डीएस धामी, हयात सिंह बुंगला आदि ने राहत की सांस ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *