coronavirus-lockdown-in-uttarakhand-three-corona-positive-patients-detected
न्यूज़

कोरोनावायरस: 93 और 88 वर्षीय बुजुर्ग दंपति कैसे बचकर निकले मौत के मुंह से

Report ring desk
60 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए कोरोनावायरस ज्यादा खतरनाक माना जा रहा है। ज्यादातर बुजुर्ग कोरोना वायरस से जीवन की लड़ाई हार रहे हैं। मगर केरल के 93 और 88 वर्षीय पति-पत्नी ने इस वायरस को हराकर दूसरों के लिए मिसाल पेश की है।  अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान भी 93 वर्षीय थॉमस अब्राहम ने अपने खाने-पीने का अंदाज नहीं बदला था। वहां भी वह पझनकांजी (चावल से बना व्यंजन) कप्पा और कटहल ही खा रहे थे।

दरअसल थॉमस अब्राहम और मरियम्मा (88) यह संक्रमण इटली से पिछले महीने लौटे उनके बेटे के परिवार से हुआ। दोनों कोट्टायम मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती थे। थाॅमस के परिवार का कहना है कि दोनों अपनी जीवन शैली के कारण स्वस्थ हो पाए हैं। यह दंपति पथनमथिट्टा जिले के रानी में किसानी करते हैं और शराब तथा सिगरेट को हाथ भी नहीं लगाते हैं।

दोनों को कोरोना वायरस संक्रमण के साथ साथ उम्र से जुड़ी कई समस्याएं, डायबिटीज और हाईपरटेंशन भी थीं ।अस्पताल में थॉमस को दिल का दौरा पड़ा था जबकि मरियम्मा के बेक्टीरियल इंफेक्शन हो गया था लेकिन इसके बावजूद दोनों कोरोना को हराने में कामयाब रहे।विश्व स्वास्थ्य संगठन ये कहता रहा है कि कोरोना से बुज़ुर्गों को ज्यादा खतरा है क्योंकि उनमें कई और स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *