न्यूज़

जेबीएम ने किया 8वें रक्तदान शिविर का आयोजन

अब तक मानेसर, गुरूग्राम, फरीदाबाद और कोसी हरिद्वार,पन्त नगर में 7 शिविर आयोजित हो चुके हैं

Report ring Desk

पन्त नगर। जेबीएम ग्रुप ने पन्त नगर स्थित अपने संयंत्र में 8वें रक्‍तदान शिविर का आयोजन किया, जिसमें 150 यूनिट ब्‍लड का दान हुआ। इस अवसर पर लेबर कमिश्नर प्रशांत कुमार और अनिल पूरोहित ने कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति से शोभा बढ़ाई। इसके अलावा इस अवसर पर अन्य गणमान्य व्यक्तियों और जेबीएम टीम मौजूद थी। कंपनी ने इस साल अगस्‍त में इंडियन रेड क्रॉस सोसायटी के साथ एक एमओयू पर हस्‍ताक्षर किये थे और पूरे भारत में अपने संयंत्रों में 25 रक्‍तदान शिविर आयोजित करने का संकल्‍प लिया था। एक साल की इस पहल में आज का शिविर 8वां था और इससे पहले 7 शिविरों में जेबीएम ग्रुप 1200 यूनिट्स से ज्‍यादा ब्‍लड दान कर चुका है।

जेबीएम ग्रुप की सीएसआर शाखा नील फाउंडेशन ने इस साल 3500 यूनिट्स रक्‍त के दान का संकल्‍प लिया था, ताकि थैलेसीमिया से पीड़ित बच्‍चों की मदद करने के महान कार्य में सहयोग दिया जा सके। आज के आयोजन में जेबीएम ग्रुप के कर्मचारियों, उनके परिवारों और दोस्‍तों ने बड़े उत्‍साह से भाग लिया और इस महान कार्य में योगदान के लिये आगे आये। रक्‍तदान से पहले हर डोनर की विस्‍तृत मेडिकल जाँच और रक्‍त का परीक्षण हुआ था, जैसे हीमोग्‍लोबिन, ब्‍लड ग्रुप, वजन लेना आदि। इस शिविर से रक्‍तदान, उसकी जरूरत और सामाजिक जिम्‍मेदारी पर स‍माज के विभिन्‍न साझीदारों के बीच सफलतापूर्वक जागरूकता निर्मित की गई।

थैलेसीमिया खून की एक गंभीर पैतृक बीमारी है। इस रोग से पीड़ित बच्‍चे को हर दो सप्‍ताह में एक यूनिट खून की जरूरत होती है। थैलेसीमिया में जीवित रहने के लिये जिंदगीभर बार-बार ब्‍लड ट्रांसफ्यूजन और आयरन चीलेशन करना पड़ता है। रेड ब्‍लड सेल ट्रांसफ्यूजर सबसे आम इलाज है और ब्‍लड बैंकों की भूमिका इसमें महत्‍वपूर्ण होती है। जेबीएम ग्रुप के कर्मचारियों और उनके परिवारों ने इन शिविरों में भाग लेने और रक्‍तदान करने का संकल्‍प लिया था, ताकि इस कार्य में सहयोग मिले और इन बच्‍चों की मदद की जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *