यूथ

लॉकडाउन के दौर में Internet बना Game-changer

लॉकडाउन के चलते आजकल लोग घरों पर बैठे हुए हैं, ज़रा सोचिए ऐसे में इंटरनेट नहीं होता तो क्या होता। इंटरनेट की वजह से लोगों को वक्त गुजारने में बड़ी आसानी हो रही है। पढ़िए स्पेशल रिपोर्ट।

By Mradul Manohar

हल्द्वानी। कल्पना कीजिए लॉकडाउन के दौर में इंटरनेट काम नहीं करे तो हम सबका हाल क्या होगा। पहला उत्तर होगा सूचनाओं का एक्सचेंज ठप हो जाएगा। आनलाइन गेम, क्लास, फिल्म और पेमेंट यह सब कुछ धराशाई हो जाएगा। इतना ही नहीं घर की चाहरदीवारी में जीवन पैरालाइज सा नजर आएगा। कहने का मतलब है कि इंटरनेट कितना जरूरी और लाइफ का पार्ट बन गया है। लॉकडाउन होने के बाद भी हम इंटरनेट के माध्यम से घर से बाहर और देश दुनिया को देख पा रहे हैं। आइए बात करते हैं नेट कैसे बना रहा है दिनचर्या को आसान।

Internet becomes game changer in lockdown

ऑनलाइन गेम बने सबकी पसंद
लोग टाइम पास करने के लिए मोबाइल पर तमाम गेम डाउनलोड कर रहे हैं। सबसे ज्यादा लूडो, तीन पत्ती, पब्जी कैरम बोर्ड आदि गेम ऑनलाइन खेलकर लोग समय व्यतीत कर रहे हैं। सबसे ज्यादा लूडो ऐप को लोगों ने प्ले स्टोर से डाउनलोड किया है।

Internet becomes game changer in lockdown

वीडियो कॉल की डिमांड बढ़ी
व्यस्तता के कारण रिश्तों में बनी दूरियों को भी लॉकडाउन ने कम किया है। पहले जहां लोग हफ्तों महीनों तक आपस में बात नहीं करते थे पर इन दिनों वीडियो कॉल करना ज्यादा पसंद कर रहे हैं। आपस में ग्रुप में वीडियो कॉल करके  रिश्तेदारों और अन्य लोगों से कुशलक्षेम पूछ रहे हैं। इंटरनेट लोगों को जोड़ने में काफी मददगार बना है।

Internet becomes game changer in lockdown

मोबाइल ने मल्टीप्लेक्स की जगह ली
एंड्राइड मोबाइल इन दिनों मल्टीप्लेक्स का काम कर रहे हैं। लोग अपने मोबाइल को फिल्म औऱ वेब सीरीज देखने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं । अधिकांश स्ट्रीमिंग एप जैसे हॉटस्टार, नेटफ्लिक्स , अमेजॉन प्राइम आदि पर लोग प्लान लेकर अपनी-अपनी पसंद की फिल्में देख रहे हैं।

Internet becomes game changer in lockdown

ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे बच्चे
लॉकडाउन के चलते स्कूल कॉलेज बंद पड़े हैं। इस कारण निजी के साथ-साथ सरकारी स्कूलों ने भी ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई शुरू करा दी है। बच्चे व्हाट्सएप वीडियो कॉल और तमाम एप से अपनी पढ़ाई कर रहे हैं। हालांकि इसमें स्कूल के अध्यापक भी बच्चों की मदद करने के लिए ऑनलाइन उपलब्ध रहते हैं।

Internet becomes game changer in lockdown

देश दुनिया की खबरें फोन पर
अधिकांश शहरों में लोगों ने कोरोना से बचने के लिये अखबार से भी दूरी बना ली है। लोग मोबाइल पर ही विभिन्न अखबारों को ईपेपर के माध्यम से पढ़ रहे हैं। इन दिनों मीडिया संस्थानों ने ईपेपर फ्री में उपलब्ध कराया है। इंटरनेट डाटा  से ही उन्हें देश दुनिया की जानकारी मोबाइल पर मिल रही है । इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया संस्थानों की खबरें भी लोग घर बैठे मोबाइल पर देख रहे हैं।

डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा
कोरोना के फैलने के बाद लोगों ने डिजिटल लेनदेन को ज्यादा तरजीह दी है। लोग नकदी के बजाय ऑनलाइन पेमेंट ज्यादा कर रहे हैं। हालांकि इसे कोरना के प्रसार को रोकने में भी अहम माना जा रहा है, क्योंकि तमाम शोध में सामने आया है कि नोटों पर भी काफी समय तक कोरोना वायरस मौजूद रहता है। इसके चलते दुकानदार भी लोगों से ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए अनुरोध कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *