husband-hires-contract-killer-to-kill-his-wife-in-dehradun
न्यूज़

पति ने सुपारी देकर कराई पत्नी की हत्या

देहरादून । नेहरू कालोनी थाना पुलिस ने कामना हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। अवैध संबंध के चलते कामना की हत्या उसी के पति ने सुपारी देकर कराई थी। यही नहीं, हत्या के मुकदमे में आरोपी बनाए गए रिंकू उर्फ अजय वर्मा की भी कामना के पति ने सुपारी देकर हत्या कराई थी। पुलिस को गुमराह करने के लिए रिंकू पर हत्या का आरोप लगाया था। पुलिस ने रिंकू और कामना की हत्या के आरोप में दो भाइयों को गिरफ्तार किया है, जबकि अस्पताल में होने के चलते कामना का पति पुलिस की निगरानी में है।

30 अगस्त की रात्रि को अजबपुर माता माता मंदिर वाली रोड में रहने वाली बुटीक और सैलून संचालिका कामना रोहिल्ला की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जबकि उसके पति अशोक उर्फ कपिल निवासी सरधना मेरठ के पेट में गोली लगी थी। अशोक ने अमन विहार निवासी रिंकू उर्फ अजय वर्मा और दो अन्य पर हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया था। जांच में रिंकू का सुराग नहीं लग पाया था।

महंत इंद्रेश अस्पताल में भर्ती अशोक की हालत में सुधार होने पर उसके बयान में विरोधाभास दिखा, जिससे पुलिस ने अशोक से जुड़े लोगों की कुंडली खंगाली। एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि जांच में पता चला कि सरधना में रहने वाले दीपक शर्मा पुत्र दिनेश शर्मा का अशोक के घर पर आना जाना था।पुलिस टीम मेरठ पहुंची तो पता चला कि दीपक घर पर नहीं है, जबकि उसका छोटा भाई गौरव शर्मा घटनावाले दिन दून आया था। संदेह होने पर दोनों की तलाश की गई। दोनों को कार समेत दौराला सरधना रोड से गिरफ्तार कर लिया गया।  दून लाकर पूछताछ में दीपक और गौरव ने सुपारी लेकर हत्या की बात स्वीकार की। बताया कि 30 अगस्त की रात्रि को साढ़े ग्यारह बजे कामना कमरे में सो रही थी। गौरव और अशोक कमरे में मौजूद थे।गौरव ने सोते वक्त ही कामना के सिर पर गोली मारकरउसकी हत्या कर दी,जबकि अशोक के कहने पर उसे पीठ की तरफ से गोली मारी। इसके बाद गौरव वहां से अशोक की कार लेकर मेरठ फरार हो गया था। बताया कि पुलिस को गुमराह करने के लिए रिंकू पर हत्या का आरोप लगाया, जबकि अशोक के कहने पर गौरव और प्रवेज उर्फ बसरू निवासी सरधना मेरठ ने रिंकू की हत्या नवंबर 2018 को जहर देकर और गला घोटकर कर दी थी। शव को राजस्थान में ही झाड़ियों में फेंक दिया था। बताया कि अशोक अस्पताल में पुलिस की  निगरानी में है, जबकि दीपक और गौरव को कोर्ट में पेश किया जाएगा। डीवीआर और पंद्रह हजार रुपये बरामद किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *