न्यूज़

प्रकृति(nature) स्वच्छ (clean)रहेगी तो ही मानव (Human) जीवन ( life) सुरक्षित रहेगा

हरेला कार्यक्रम के तहत खटीमा पहुंचे शिक्षा मंत्री
बोले, सभी को एक पौधा जरूर लगाना चाहिए

By Naveen Joshi
खटीमा। प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि प्रकृति को स्वच्छ रखने से ही मानव जीवन सुरक्षित रहेगा, यह बात कोरोना महामारी के दौरान हम सभी ने जान ली है। लिहाजा हर व्यक्ति को घर में किसी प्रकार के आयोजन पर एक पौधा जरूर लगाना चाहिए।

अस्कोट से आराकोट तक शुरू हुए हरेला कार्यक्रम के तहत सोमवार को थारू राजकीय इंटर काॅलेज खटीमा पहुंचे शिक्षा मंत्री पांडे ने स्कूल प्रांगण में पौधरोपण किया। उन्होंने कहा कि बच्चों को पर्यावरण के बारे में जानकारी देने के साथ ही प्रकृति को हराभरा करने के उद्देश्य से सीएम की ओर से यह कार्यक्रम चलाया गया है। बच्चे किताबों में तो पौधरोपण के फायदे बहुत पढ़ते हैं, लेकिन उन्हें इस अभियान के माध्यम से प्रत्यक्ष तौर पर इसका ज्ञान कराया जा रहा है। इस दौरान विधायक पुष्कर सिंह धामी, बलराज पासी, संतोष अग्रवाल, राजपाल सिंह, किशन सिंह किन्ना, मोहिनी पोखरिया, पंकज सिंह, एसडीएम निर्मला बिष्ट, तहसीलदार यूसुफ अली, खंड शिक्षाधिकारी सोनी मेहरा, प्रधानाचार्य संतोष कुमार, नरेंद्र रौतेला, प्रमोद राणा, मनोज गुणवंत, बीडी चिल्कोटी, बीएस मेहता, केडी जोशी, योगेश कापड़ी, नवीन उपाध्याय, एके सिंह, मुन्ना लाल, मीना अग्रवाल, रिंकी देवी आदि मौजूद थे।

केंद्र सरकार की गाइड लाइन पर ही खुलेंगे स्कूल
पत्रकारों के सवालों के जवाब में शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्कूल केंद्र सरकार की गाइड लाइन के अनुसार ही खोले जाएंगे। निजी स्कूलों द्वारा शिक्षकों को निकालने एवं वेतन नहीं देने के मामले में शिक्षा मंत्री बोले कि संक्रमण काल में सभी को एक दूसरे की परेशानी को समझना चाहिए। उन्होंने निजी स्कूलों के प्रबंधकों से अनुरोध किया कि वह अपने स्कूलों से शिक्षकों को नहीं निकालें और जितना संभव हो सके उन्हें वेतन जरूर दें। साथ ही कोई भी स्कूल किसी भी अभिभावक से जबरन फीस नहीं लेगा, जो स्कूल जितने बच्चों को पढ़ा रहे हैं सिर्फ उनसे ही ट्यूशन फीस लेगा।

विधायक ने की स्कूलों की दशा सुधारने की मांग
खटीमा। कार्यक्रम के दौरान विधायक पुष्कर सिंह धामी ने शिक्षा मंत्री को क्षेत्र की शिक्षा व्यवस्था की जानकारी दी। इस दौरान धामी ने नवोदय स्कूल और आश्रम पद्धति स्कूल की बदहाली के बाबत बताते हुए इन स्कूलों की दशा सुधारने की मांग की। इस पर शिक्षा मंत्री ने हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया।

मंत्री के कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना भूले
खटीमा। हरेला कार्यक्रम के दौरान शिक्षा मंत्री के खटीमा पहुंचने पर अधिकतर लोग वहां पहुंचे, इस दौरान शिक्षा मंत्री ने सभी का हालचाल भी जाना, लेकिन पौधरोपण कार्यक्रम और समस्याएं बताने के दौरान नेताओं के साथ ही लोग भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना भूल गए और मौके पर ही भीड़ जुटाकर खड़े हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *