ficci
न्यूज़

सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा में बुनियादी सुधार की फिक्की ने की सराहना

Report ring desk

नई दिल्ली। देश के प्रमुख उद्योग संघ फिक्की ने सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा में बुनियादी सुधार के कदमों को लेकर वित्त मंत्री की घोषणा का स्वागत किया है। फिक्की स्वास्थ्य क्षेत्र की विभिन्न चुनौतियों के समाधान के लिए ऐसे कदमों की मांग पिछले कुछ वर्षों से कर रहा था। सोच-समझ कर तैयार की गई रणनीति के तहत पूरे देश में अस्पतालों के लिए सार्वजनिक-निजी बुनियादी संरचना, सरकारी वित्त से लैब्स निर्माण, ब्लॉक स्तर पर संक्रामक रोगों से लड़ने की तैयारी पर जोर देने के साथ-साथ अनुसंधान और डिजिटल स्वास्थ्य सेवा को बढ़ावा देने से इस क्षेत्र का विकास होगा।

फिक्की का मानना है कि शहरों में पीपीपी मॉडल पर अस्पताल बनाने की व्यवहार्यता में 30 प्रतिशत वित्तीय (वीजीएफ) कमी पूरा करने का कदम स्वागत योग्य है। पिछले साल सरकार ने 20 प्रतिशत वीजीएफ स्कीम की घोषणा की थी जिसके तहत काम करने के लिए अधिक भागीदार सामने नहीं आए। दरअसल यह समझना होगा कि केवल पूंजीगत खर्च के लिए वीजीएफ देना स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए व्यावहारिक नहीं होगा। इसलिए पूंजीगत व्यय और परिचालन व्यय के वित्तीयन पर भी विचार किया जाना चाहिए।पिछले कुछ महीनों से भारी वित्तीय और मानव संसाधन तनाव का सामना करते इस क्षेत्र के उद्योगपतियों को तत्काल राहत पैकेज की उम्मीद है।

फिक्की ने सरकार से स्वास्थ्य क्षेत्र को तत्काल राहत देने की कुछ सिफारिशें की है। ताकि अस्पतालों को इन मुश्किलों से बाहर निकलने में मदद मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *