न्यूज़

दिल्ली के प्राइवेट स्कूल के 200 कर्मचारियों के लिए कोरोना लाया ऐसा संकट

Report ring desk
नई दिल्ली। कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ इसके दुष्परिणाम दिखने लगे हैं। कोरोना का सबसे ज्यादा असर मजदूरों पर तो पड़ा ही है अब प्राइवेट कंपनियों में काम करने वाले भी इससे प्रभावित हैं। किसी कंपनी में काम करने के बाद आधी सेलरी मिल रही है तो किसी ने कर्मचारियों को नौकरी से ही हटा दिया। इस बीच दिल्ली के प्रतिष्ठित निजी स्कूलों में काम करने वाले 200 कर्मचारियों की भी नौकरी चली गयी। नौकरी से हटाए गए इन कर्मचारियों में ज्यादातर लड्राइवर, कंडक्टर, हाउसकीपिंग स्टाफ से हैं।

इन कर्मचारियों ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से मामले में हस्तक्षेप की मांग की है। उपमुख्यमंत्री को ई मेल के माध्यम से भेजी शिकायत में कर्मचारियों ने कहा है कि वह दिल्ली के वसंत कुंज स्थित स्कूल से संबद्ध हैं। इसमें कई ऐसे कर्मचारी हैं ,जो पिछले 10 सालों से वहां काम कर रहे थे। उनका आरोप है कि सुबह सभी को स्कूल बुलाया गया और नौकरी से हटाने का पत्र थमा दिया। नौकरी से हटाने की तारीख भी मार्च की डाली गयी है।

उधर स्कूल प्रबंधन का कहना है कि जिन कर्मियों को निकाला गया है वे स्कूल के रोल पर नहीं थे, बल्कि कांट्रेक्टर के माध्यम से काम कर रहे थे। स्कूल ने नहीं निकाला है बल्कि काट्रेक्टर का कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *