न्यूज़

चीन सीमा तक पहुंची सड़क, कैलाश मानसरोवर यात्रा होगी आसान

Report ring desk

पिथौरागढ़ । तवाघाट से लिपुलेख तक 95 किमी लंबी सड़क की कटिंग कार्य को पूरा हो गया है। इसके बाद चीन सीमा तीन किमी दूरी पर है। बताया जाता है कि सुरक्षा की दृष्टि से फिलहाल यह काम छोड़ दिया गया है। इस सड़क पर शनिवार से सेना और अर्द्ध सैनिक बलों की गाड़ियों के संचालन की अनुमति होगी। आम लोगों के वाहनों को कुछ दिनों बाद अनुमति दी जा सकती है। सड़क के बनने से कैलाश मानसरोवर यात्रा, छोटा कैलाश यात्रा की राह आसान होगी।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कैलाश मानसरोवर के लिए लिंक रोड का उद्घाटन किया। इस अवसर पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत और थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवाने भी उपस्थित थे।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सीमा तक रोड कनेकक्टिविटी को बड़ी उपलब्धि बताया। कहा कि सड़क का राष्ट्र के निर्माण में अहम योगदान होता है। बीआरओ की सराहना की और कहा कि लिपुलेख तक सड़क बनने से कैलाश यात्रा सुगम होगी। स्थानीय लोगों को भी सड़क सुविधा मिलेगी।

भारत चीन व्य्यापार को गति मिलेगी। विकास को बल मिलेगा। इस दौरान उन्होंने सड़क निर्माण में जान गवाने वाले जवानों को श्रद्धांजलि दी और परिवारों के प्रति संवेदना जताई। फ्लैग आफ करने के बाद बीआरओ के वाहन गुंजी के लिए रवाना हुए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *