the people who are coming from outside will be 14 days qurantine
न्यूज़

राहतभरी खबर: गर्मी कम करेगी कोरोना का कहर

 अमेरिका के मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी यानी एमआईटी की ताज़ा रिपोर्ट भारत के लोगों के लिए अच्छी साबित हो सकती है। रिपोर्ट की मानें तो गर्मी बढ़ने के साथ ही इस जानलेवा वायरस का प्रकोप कम हो सकता है।

रिपोर्ट रिंग डेस्क

कोरोना वायरस/ coronvirus के कहर के बीच एक राहत भरी खबर सामने आयी है। अगर ऐसा हुआ तो इंडिया में कोरोना ज्यादा आतंक नहीं मचा पाएगा। अमेरिका के मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी यानी एमआईटी की ताज़ा रिपोर्ट भारत के लोगों के लिए अच्छी साबित हो सकती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि धूप और गर्मी के बढ़ने के साथ ही कोरोना वायरस/कोविड-19 का खतरा कम होता जाएगा। वायरस के फैलने और पैदा होने के बारे में एमआईटी द्वारा की गयी स्टडी में यह खुलासा हुआ है।

कोरोना वायरस से जूझ रहे देशों के लिए गर्मी का मौसम राहत भरा हो सकता है। एमआईटी ने उम्मीद जताई है कि गर्मी बढ़ने के साथ कोरोना का प्रकोप कम हो सकता है। वायरस के पनपने की परिस्थितियों का अध्ययन कर एमआईटी ने यह निष्कर्ष निकाला है कि तापमान बढ़ने से कोरोना का खतरा कम होने की उम्मीद की जानी चाहिए।

एमआईटी के अध्ययन के मुताबिक मौसम अगर गरम और नमी भरा होगा तो वायरस फैलने की संभावनाएं काफी कम हो जाएंगी। जिन देशों में तापमान 3 से 17 डिग्री सेल्सियस के बीच और नमी 4 से 9 ग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रही है उनमें कोरोना का संक्रमण अधिक रहा है। जिन देशों में पारा 17 डिग्री से ऊपर और नमी 9 ग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से ज्यादा रही, वहां कोरोना के मामले केवल छह फीसदी ही दर्ज हुए।

कोरोना का खतरा कम करने के लिए जहां सोशल डिस्टेंसिंग को ही कारगर माना जा रहा था ऐसे में एमआईटी का यह अध्ययन भारत सहित अन्य गर्म देशों के लिए राहत भरा है। मौसम विभाग ने अगले हफ्ते से तापमान बढ़ने की संभावना जताई है। वैसे भी 27 मार्च के बाद देश में तापमान बढ़ने लगता है। पिछले चार साल के मौसम के रिकार्ड पर नजर डालें तो दिल्ली समेत पूरे देश में 17 से 26 अप्रैल के मध्य तापमान 40 डिग्री रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *