देश दुनिया न्यूज़

खुलासा: वूहान से नहीं हुई कोरोना की शुरूआत, जानिए कहां फैला सबसे

 
स्पेन की बार्सिलोना यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का दावा, कोरोना वायरस चीन के वूहान से लगभग 9 महीने पहले स्पेन में पाया गया था। इस िरपोर्ट के सामने आने से एक नयी बहस छिड़ गयी है।
Report Ring Desk
New Delhi: इंडिया सहित पूरी दुनिया कोरोना वायरस की चपेट में आ चुकी है। आए दिन मौत के आंकड़ों में इजाफा हो रहा है, यहां तक कि संक्रमण के मामले भी नहीं घट रहे हैं। तमाम कोशिशों के बावजूद अब तक वायरस को काबू में काबू में करने के लिए कोई वैक्सीन ईजाद नहीं हो सकी है। शायद अभी कुछ महीनों का वक्त वैक्सीन तैयार होने में लग सकता है।
वहीं शुरुआत की बात करें तो पहले सामने आई सभी रिपोर्टों में चीन के वूहान शहर को ही वायरस का स्रोत माना गया है। लेकिन अब एक नए चौंकाने वाले शोध में पता लगा है कि कोरोना महामारी का शुरुआती स्थल वूहान शहर न होकर यूरोपीय देश स्पेन का कोई इलाका है। जैसा कि हम जानते हैं कि अमेरिका सहित कई देश वायरस के प्रसार और पारदर्शिता न दिखाने के लिए चीन पर आरोप लगाते रहे हैं। अमेरिका में होने वाले आगामी चुनावों में यह मुद्दा खूब जमकर उछाला जा रहा है। जबकि इंडिया में भी चीन को ही दोषी माना जाता रहा है।
अगर इस नई रिपोर्ट के दावे को सही माना जाय तो वायरस वूहान से बहुत पहले यानी नौ महीने पहले स्पेन में फैलना शुरू हो गया था।
स्पेन की बार्सिलोना यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए शोध के मुताबिक मार्च 2019  में स्पेन के किसी क्षेत्र के गंदे पानी में इस वायरस की मौजूदगी पायी गयी थी।
रिपोर्ट में दावा किया गया है कि स्पेन में वायरस के अंश पाए जाने के बाद करीब नौ महीने बाद दिसंबर 2019 में चीन के वूहान में वायरस का प्रसार हुआ।
इस अध्ययन के अनुसार स्पेन के बार्सिलोना में 12 मार्च 2019 को वायरस के पहली बार लक्षण देखे गए थे। इस शोध में वैज्ञानिकों ने जनवरी 2018 से दिसंबर 2019 तक स्पेन के विभिन्न शहरों से जमा सीवेज के पानी के नमूनों की जांच की। हालांकि वायरस की मौजूदगी पानी के एक ही नमूने में पायी गयी है।
भले ही स्पेन के गंदे पानी में वायरस के लक्षण मार्च 2019 में पाए गए थे, लेकिन स्पेन में वायरस के इंसानों में संक्रमण का पहला मामला फरवरी 2020 में सामने आया था। अब इस रिपोर्ट पर विश्व के वैज्ञानिकों की प्रतिक्रिया का इंतज़ार है। लेकिन इतना तय है कि इस रिपोर्ट ने एक नई बहस को जन्म दे दिया है कि वायरस का केंद्र चीन न होकर स्पेन था। आने वाले दिनों में इस पर जरूर चर्चा होगी, क्योंकि अब तक चीन को ही इस वायरस के प्रसार के लिए ज़िम्मेदार माना गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *