न्यूज़

बुजुर्गों का खयाल रखेगा चीन, बीमारियों से पीड़त लोगों को भी लाभ

चीन में तमाम लोग हैं कैंसर से पीड़ित, सरकार का यह कदम गंभीर बीमारियों से त्रस्त रोगियों के लिए राहत पहुंचाएगा। इसके साथ ही बुजुर्गों की देखभाल पर भी ध्यान दिया जाएगा। क्योंकि चीन में बुजुर्गों की आबादी चिंता का विषय है। 
By Anil Azad Pandey, Beijing
अगर देश के नागरिक स्वस्थ होंगे तो देश का स्वास्थ्य भी बेहतर होगा। इसी तर्ज पर ध्यान देते हुए चीन स्वास्थ्य सुविधाओं को देश के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने की कवायद में लगा है। चीन सरकार का कहना है कि वह ग्रामीण और गैर कामकाजी शहरी लोगों के लिए बेसिक मेडिकल बीमा व गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए बीमा कवर को बढ़ाने की प्रक्रिया जारी रखेगी। इसके साथ ही रेजिडेंट मेडिकल इंश्योरेंस में औसतन प्रति व्यक्ति 30 युआन की बढ़ोतरी की जाएगी। इसमें से आधी राशि का इस्तेमाल गंभीर बीमारियों के बीमा के रूप में किया जाएगा।
चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने मीडिया से बात करते हुए जोर दिया कि सरकार की प्राथमिक लोगों को अच्छी और सस्ती हेल्थ केयर सुलभ करवाना है। उन्होंने कहा कि हमें अहसास है कि गंभीर बीमारियों से जूझ रहे मरीजों को कितनी परेशानी की सामना करना पड़ता है।
इसके साथ ही चीनी पीएम ने देश में बुजुर्गों की देखभाल के संबंध में और ध्यान देने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने कहा कि बुजुर्गों की केयर के लिए सामुदायिक स्तर पर अधिक कोशिश की जाएगी। ध्यान रहे कि चीन में बुजुर्गों की आाबादी बहुत अधिक है। अगर यही स्थिति रही तो आने वाले कुछ वर्षों में चीन को जनसंख्या असंतुलन के गंभीर संकट का सामना करना पड़ेगा।
वहीं सरकार द्वारा पेश की गयी रिपोर्ट के अनुसार, चीन लगातार लोगों के ऊपर से हेल्थ केयर का बोझ कम करने की कोशिश कर रहा है। बताया जाता है कि चीन में तमाम लोग कैंसर से पीड़ित हैं, जिसकी दवाइयां और इलाज का खर्च बहुत महंगा होता है। लोगों को इस पीड़ा से निजात दिलाने के लिए चीन का संबंधित विभाग कैंसर की रोकथाम व इलाज के लिए बड़े स्तर पर प्रयास जारी रखेगा। इसके साथ ही प्रिवेंटिव स्क्रीनिंग को बढ़ावा दिया जाएगा। समय से पहले डाइग्नोसिस व इलाज के साथ-साथ कैंसर रिसर्च पर काम जारी रहेगा।
गौरतलब है कि चीन में दवाएं बहुत महंगी मिलती हैं। विशेषकर हृदय रोग, कैंसर, मधुमेह, रक्त चाप आदि से जुड़ी बीमारियों के इलाज में काम आने वाली औषधियां। ऐसे में बीमा योजना में दवाओं का खर्च भी कवर किया जाएगा। और विभिन्न प्रांतों को एक-दूसरे के साथ सहयोग करना होगा, ताकि निश्चित समय पर बिल का खर्च अदा करने की प्रक्रिया तेज की जाएगी।
इतना ही नहीं सरकारी अस्पतालों में व्यापक सुधार को गहरा करते हुए निजी अस्पतालों के विकास को भी प्रोत्साहित किया जाएगा। वहीं रिमोट मेडिकल केयर सेवा के लिए सिस्टम स्थापित करते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य कर्मियों को ट्रेनिंग देने की व्यवस्था और मजबूत की जाएगी।  यहां बता दें कि चीन के शहरों में अधिकांश लोग हेल्थ बीमा के दायरे में आते हैं। हाल के वर्षों में सरकार ने स्वास्थ्य बीमा का दायरा बढ़ाने का काम किया है।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *