रोचक

क्वारंटीन सेंटर में अनूप की डाइट और पाचन शक्ति से हर कोई हैरान, खा जाते हैं इतनी रोटियां

Report ring desk

बक्सर। बिहार का एक क्वारंटीन सेंटर युवक की डाइट को लेकर चर्चा में है। युवक आठ दस लोगों के बराबर खाना खा जाता है। युवक की डाइट से खाना बनाने वाले और क्वारंटीन सेंटर में रह रहे दोनों ही परेशान हैं। खाना बनाने वालों के पसीने छूट रहे हैं तो क्वारंटीन लोगों के लिए खाना कम पड़ जाता है। अक्सर खाना दोबारा बनाना पड़ता है। एक दिन तो 60 लिट्टी खाने के बाद भी उसका पेट नहीं भरा।

roti

ये भी पढ़ें : घोड़े को होम क्वारंटीन, मालिक को प्रशासनिक क्वारंटीन

अनूप खाते हैं 30 से 35 रोटी और कई प्लेट चावल 

बिहार केे बक्सर जिले के मंझवारी राजकीय प्राथमिक विद्यालय में बने क्वारंटीन सेंटर में 21 वर्षीय अनूप झा चर्चा में हैं। चर्चा उनके खुराक की हो रही है। लोग उनकी खुराक को सुनकर हैरत में हैं। अनूप 30 से 35 रोटी और कई प्लेट चावल खा जाते हैं।

रोटी सेंकने वालों के छूट जाते हैं पसीने 

अनूप भी खुद स्वीकारते हैं कि उन्हें नाश्ते में 30 रोटियां चाहिए। गांव में कई बार शर्त लगाने में उन्होंने सौ समोसे खाए हैं। वह  राजस्थान के भिवाड़ी जिले में रोजगार की तलाश में गए थे तभी लाॅकडाउन हो गया।  करीब डेढ़ महीने वह लाॅकडाउन में फंसे रहे। श्रमिक स्पेशल ट्रेन से अनूप बिहार लौटे। स्वास्थ्य परीक्षण के बाद उन्हें 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया गया है। इस सेंटर में 87 प्रवासी रह रहे हैं। क्वारंटीन सेंटर की व्यवस्था देख रहे प्रमोद कुमार साह ने बताया कि अनूप के लिए यहां विशेष व्यवस्था की गयी है। चावल बनाने में तो कोई दिक्कत नहीं है लेकिन रोटी सेंकने वालों के  पसीने छूट जाते हैं। अनूप की डाइट और पाचन शक्ति से हर कोई हैरान।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *