7 Districts of Uttarakhand are Corona Free
न्यूज़

उत्तराखंड में यहां लें कोरोना फ्री सांस

By Mradul Manohar, Haldwani

जीवन में सफल होने के लिए हमेशा पॉजिटिव सोचने के लिए कहा जाता है पर इन दिनों डॉक्टर की सलाह है कि अगर जीवन को कोरोना फ्री रखना है तो आपकी कोविड-19 जांच रिपोर्ट नेगेटिव होनी चाहिए। यानी मेडिकल की भाषा में कहा जाए तो इन दिनों नेगेटिव भी पॉजिटिव है। चीन के वुहान से निकले इस वायरस ने दुनिया के 200 देशों में तबाही मचाई है। इस महामारी से भारत भी नहीं बच सका पर शुक्र है कि उत्तराखंड के 7 जिले अब तक कोरोना फ्री हैं। यहां एक भी मरीज की सैंपल रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं है। इसके चलते यहां के लोग बिना मास्क के खुली हवा में सांस लेने को स्वतंत्र हैं। हालांकि उन क्षेत्रों में भी कोरोना से बचाव को लेकर सभी एहतियात बरते जा रहे हैं । पूरे प्रदेश में अब तक 47 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। यह आंकड़े स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए हैं, जो 23 अप्रैल तक के हैं।

ये हैं कोरोना फ्री जिले
बागेश्वर, टिहरी गढ़वाल, उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़, चंपावत।

राज्य के तीन जिले रेड जोन में
कोरोना मरीजों के आधार पर प्रदेश को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में बांटा गया है। रेड जोन में नैनीताल में 9, हरिद्वार में 7 और देहरादून में 25 कोरोना मरीज रिपोर्ट हुए हैं। जबकि ऑरेंज जोन वाले उधम सिंह नगर में 4 औऱ अल्मोड़ा में एक मरीज मिला है। वही पौड़ी गढ़वाल समेत 8 जिले ग्रीन जोन में हैं। हालांकि पौड़ी में 29 दिन पहले एक मरीज का सैम्पल पॉजिटिव आया था, लेकिन पिछले 29 दिन से कोई भी सैंपल पॉजिटिव नहीं आने के कारण गाइडलाइन के तहत जिले को ग्रीन जोन में शामिल कर दिया है।
80 साल के ऊपर के एक भी व्यक्ति की जांच नहीं
प्रदेश में अब तक 4473 संदिग्ध लोगों के सैंपल कोरोना जांच के लिए प्रदेश की लैब में भेजे गए। इनमें 80 साल से ऊपर के किसी भी व्यक्ति का सैंपल कोरोना जांच के लिए नहीं भेजा गया है। वहीं कुल सैंपल में सबसे ज्यादा 35 फीसदी सैंपल 20 से 30 उम्र वर्ग के लोगों के लिए गए हैं। वहीं नौनिहालों की बात की जाए तो शून्य से 10 उम्र के 4.2 और 71 से 80 उम्र वर्ग में एक 1.7 फीसदी सैंपल कोरोना जांच को भेजे गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *